नव भारत फाउंडेशन ने रन फाॅर सिक्योरिटी’ के माध्यम से पुलवामा अटैक के शहीदों के लिए जुटाया फंड

0

गुरुग्राम/अतुल्यलोकतंत्र : नव भारत फाउंडेशन (एनबीएफ) ने 25 अगस्त को गुरुग्राम के ‘ताऊ देवीलाल स्टेडियम में ‘रन फॉर सिक्योरिटी’ के दूसरे संस्करण का आयोजन किया, जिसकी शुरुआत साल 2017 में की गई थी। ‘रन फॉर सिक्योरिटी’ के दूसरे संस्करण का आयोजन माननीय इंद्रेश कुमार के मार्गदर्शन के तहत किया गया।

कार्यक्रम में उपस्थित इंद्रेश कुमार ‘हम पाकिस्तान से कश्मीर वापस लेंगे’ के नारे लगा रहे थे। इस वर्ष भारत सरकार में जल षक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने पीएम नरेंद्र मोदी से प्रेरणा लेते हुए एनबीएफ के ‘जन जल’ का शुभारंभ किया एवं पुलवामा अटैक के शहीदों के परिवारों को इस कार्यक्रम में सम्मानित भी किया।

गुरुग्राम के हजारों युवाओं ने हमारे शहीद जवानों के परिवारों के सहायतार्थ आयोजित पांच किलोमीटर की ‘धन जुटाओ दौड़’ में भाग लिया। भारत की पहली महिला शहीद की गरिमामय उपस्थिति में दस शहीदों के परिवारों को उपस्थित गणमान्य लोगों द्वारा सम्मानित किया गया। एनबीएफ की राष्ट्रीय संय रेशमा एच. सिंह ने अधिक से अधिक लोगों से इस रन में भाग लेने का आग्रह किया।

जीओसी दिल्ली क्षेत्र के लेफ्टिनेंट जनरल एबी मिस्त्री, भिवानी के सांसद धर्मबीर सिंह, फुटबाॅल प्लेयर भाईचुंग भूटिया, चेतन शर्मा, कमला माहेश्वरी, कविता चहल समेत भारत के अलग-अलग हिस्सों से आए 15 अन्य अंतर्राष्ट्रीय चैंपियन इस कार्यक्रम में मौजूद रहे। अंत में मिलिंद गाबा द्वारा देशभक्तिपूर्ण कार्यक्रम का प्रदर्शन किया गया।

उल्लेखनीय है कि ‘रन फॉर सिक्योरिटी’ एनबीएफ की एक पहल है, जिससे हम अपने समुदायों, विशेष रूप से हमारे युवाओं को देष की सुरक्षा हित के लिए जोड़ते हैं। यहां हम उन्हें अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं के प्रति संवेदनशील बनाने, अपनेपन की भावना लाने और हमारे बहादुर दिलों के परिवारों को सम्मानित करने का प्रयास करते हैं, जिन्होंने हमारी सुरक्षा के लिए लड़ते हुए अपनी जान गंवा दी। साल 2017 में शहीदों के परिवारों को सम्मानित करने के लिए शुरू की गई इस पहल का यह दूसरा संस्करण था, जिन्होंने सीमा पर ड्यूटी के दौरान अपनी जान गंवा दी।

साल 2017 में एनबीएफ द्वारा 40 ऐसे परिवारों का सम्मान समारोह आयोजित किया गया था, जब हरियाणा के तत्कालीन राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी (अब त्रिपुरा के राज्यपाल) और आरएसएस के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य इंद्रेश कुमार की मौजूदगी में षहीद के परिवारों और हमारे सशस्त्र बलों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए 6,000 प्रतिभागियों के साथ एक ‘रन’ का आयोजन किया गया था।

कई सम्मानित राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों ने भी ‘रन’ में भाग लिया। इस वर्ष कार्यक्रम में जल संरक्षण के मुद्दे को भी जोड़ा गया और ’उरी’ और ‘पुलवामा’ अटैक के प्रभावित परिवारों को भी इस पहल में शामिल किया गया। आगे से इस ‘रन’ के समर्थन में अधिक से अधिक स्पोट्र्सपर्सन के साथ 10,000 लोगों की भागीदारी का लक्ष्य रहेगा।

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here