ढीली हुई प्रदूषण की अकड़, फिर भी स्वास्थ्य के लिए हैं खतरनाक

0
File Photo

New Delhi/Atulya Loktantra: वायु प्रदूषण के मामले में दिल्ली-एनसीआर के लोगों को फिलहाल थोड़ी राहत मिली है। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति द्वारा जारी ताजा आकड़ों के अनुसार, दिल्ली के आनंद विहार इलाके में बुधवार को वायु गुणवत्ता स्तर 313, आरकेपुरम में 305, मुंडका में 325 और पटपड़गंज में 309 है। हवा की रफ्तार बढ़ते ही मंगलवार को दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) 41 प्वाइंट नीचे आ गया। सफर इंडिया के अनुसार, हवा की गति में सुधार से एयर इंडेक्स में कमी बरकरार रह सकती है।

दिल्ली का एयर इंडेक्स सोमवार को 353 रिकॉर्ड किया गया था। मंगलवार को यह गिरकर 312 पर पहुंच गया। पिछले कुछ दिनों की तुलना में इसे थोड़ा बेहतर कहा जा सकता है। प्रदूषण में हुए इस सुधार के पीछे हवा की गति को ही मुख्य कारक माना जा रहा है। इसके चलते हवा में प्रदूषक कण ठहर नहीं पा रहे हैं। वहीं दिल्ली का पीएम 2.5 जहां मंगलवार को 160 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा, जबकि पीएम 10 का स्तर 292 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया।

AdERP School Management Software

पंजाब, हरियाणा और पाकिस्तान के सीमावर्ती हिस्सों में पराली जलाने की घटनाओं में तेजी आई है। सफर के मुताबिक, मंगलवार को दिल्ली के प्रदूषण में पराली की हिस्सेदारी 23 फीसद रही। इस सीजन में यह अब तक की सर्वाधिक हिस्सेदारी है। सोमवार को एक ही दिन में पराली जलाने के जो 1943 मामले रिकॉर्ड किए गए, वे भी इस बार के सर्वाधिक हैं। सफर इंडिया का कहना है कि हवा के मंद पड़ते ही प्रदूषण में फिर से इजाफा होने लगेगा।

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here