कार्यकर्ताओं ने कारण जब हुड्डा की जान पर बन आई

0

Sonipat/Atulya Loktantra : पार्टी कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को प्रदेश के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा, उनकी पत्नी आशा और सांसद बेटे दीपेंद्र हुड्डा की जान जोखिम में डाल दी। एक हेलीकॉप्टर से तीनों जैसे ही पुलिस लाइन पहुंचे, पार्टी का झंडा लेकर कार्यकर्ता उनकी ओर दौड़ पड़े। जबकि उस समय हेलीकॉप्टर की पंखुड़ी तेजी से घूम रही थी।

लोगों के हाथों में झंडे थे जो हेलीकॉप्टर की पंखुड़ी से टकरा गए। गनीमत रही कि झंडों में लगे डंडे हल्के थे और वह पंखुड़ी की चपेट में आते ही टूट गए। इससे हेलीकॉप्टर का संतुलन नहीं बिगड़ा और बचाव हो गया। निजी सुरक्षाकर्मियों ने काफी मशक्कत के बाद भीड़ को पीछे हटाया। मौके पर किसी पुलिसकर्मी की तैनाती नहीं की गई थी।

सोनीपत लोकसभा सीट से नामांकन करने के लिए पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा को सुबह दस बजे पहुंचना था। उनका हेलीकॉप्टर पुलिस लाइन में उतरना था। इसलिए हेलीपैड से लेकर लघु सचिवालय तक भीड़ जमा हो गई थी। भूपेंद्र हुड्डा, उनकी पत्नी आशा हुड्डा, दीपेंद्र हुड्डा तय कार्यक्रम से लगभग दो घंटे देरी से पहुंचे थे। इस बीच पार्टी के काफी कार्यकर्ता उनका इंतजार कर रहे थे। जैसे ही उनका हेलीकॉप्टर रुका सभी दौड़ पड़े।

आचार संहिता के कारण पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा के आने पर हेलीपैड पर सुरक्षा नहीं दी गई थी। जिस रूट से उनको लघु सचिवालय आना था, वहां भीड़ के कारण सुरक्षा व्यवस्था व ट्रैफिक व्यवस्था बनाने के कारण पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई थी।
– रविंद्र कुमार, डीएसपी।

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here