कृषि बिलों के खिलाफ किसान संगठनों ने आज ‘भारत बंद’ का किया ऐलान, इन राज्यों में रहेगा ज्यादा असर

0

New Delhi/Atulya Loktantra: कृषि बिलों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन शुक्रवार को और उग्र होने की संभावना है। विभिन्न किसान संगठनों ने शुक्रवार यानि आज को बिल के विरोध में देश बंद कर रहे हैं। हरियाणा और पंजाब में बिल का सर्वाधिक विरोध हो रहा है। इसके अलावा अन्य कई राज्यों में भी किसान संगठनों के साथ-साथ राजनीतिक दल भी विधेयक के विरोध में सड़कों पर उतरने के लिए तैयार हैं।

पंजाब-हरियाणा में हो सकता है ‘टोटल शटडाउन’
कृषि विधेयकों के पास होने के विरोध में किसानों के अलग-अलग संगठनों ने शुक्रवार को ‘भारत बंद’ का ऐलान किया है। इसका सबसे ज्यादा असर पंजाब, हरियाणा और वेस्ट यूपी में दिख सकता है। किसान सड़कों पर चक्का जाम और रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन करने की तैयारी में हैं। इसे देखते हुए पंजाब-हरियाणा से होकर गुजरने वाली कई ट्रेनें अगले दो दिनों के लिए रद कर दी गई हैं। हरियाणा में सभी हाई-वे पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। डीजीपी ने सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया है कि अगर किसान भीड़ इकट्ठा करते हैं या अनाज मंडियों में सभाएं करते हैं, तो उन्हें रोका जाए।

31 दलों का पंजाब बंद आंदोलन
शुक्रवार को 31 किसान संगठनों ने पंजाब बंद का आह्वान किया है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी किसानों को उनकी लड़ाई में समर्थन देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को प्रदेश में धारा 144 के उल्लंघन की कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की जाएगी। सीएम ने किसान प्रदर्शनकारियों से अपील करते हुए कहा कि आंदोलन के दौरान कानून व्यवस्था का उल्लंघन नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि आंदोलन के दौरान लोगों को असुविधा न होने पाए और सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान न पहुंचे इसका भी ध्यान रखा जाना चाहिए।

सरकार भी है तैयार
प्रदेश की बीजेपी सरकार भी आंदोलन को ध्यान में रखते हुए प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए तैयारी कर ली है। प्रदेश के गृहमंत्री अनिल विज ने गृह विभाग और पुलिस अधिकारियों के साथ मीटिंग की। उन्होंने डीजीपी को हड़ताल के दौरान किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के निर्देश दिए हैं।

बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस अलर्ट
ज्यादातर किसानों ने अपने-अपने इलाकों में रहते हुए प्रदर्शन का ऐलान किया है और राजधानी दिल्ली में न जाने का फैसला किया है। फिर भी दिल्ली पुलिस शुक्रवार को अलर्ट पर रहेगी। इस मद्देनजर पुलिस ने हरियाणा बॉर्डर सील करने की तैयारी कर ली है। हालांकि, गुरुवार को दिल्ली-हरियाणा मार्ग पर यातायात सामान्य था। किसान समूहों ने आह्वान किया है कि वे कल सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक चक्का जाम करेंगे।

एसपी ने दिया किसानों को समर्थन
उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी भी किसानों के विरोध प्रदर्शन में शामिल होगी। पार्टी ने कृषि बिलों के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन को अपना समर्थन दिया है और कहा है कि वे हर जिले में विरोध प्रदर्शन आयोजित करेंगे और जिलाधिकारियों के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन सौपेंगे।

‘वेस्ट यूपी रहेगा जाम’
वेस्ट यूपी में किसान संगठनों ने शुक्रवार को यातायात के सभी रास्ते बंद करने की चेतावनी दी है। साथ ही दिल्ली को सब्जी-दूध आपूर्ति रोकने का भी दावा किया है। भारतीय किसान यूनियन के मुताबिक, ऐम्बुलेंस और आवश्यक वस्तुओं को रोका नहीं जाएगा।

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here