नोटबंदी : लघु सचिवालय पर किया विशाल-धरना प्रदर्शन

0

Faridabad/Atulya loktantra : नोटबंदी की दूसरी वर्षगांठ को राष्ट्रीय आपदा बताते हुए इसकी दूसरी बरसी पर फरीदाबाद के कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार के इस विनाशकारी कदम के विरोध में सैक्टर-12 स्थित लघु सचिवालय पर विशाल-धरना प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में मुख्य रूप से जिला प्रभारी मोहम्मद बिलाल, आनन्द कौशिक, प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी, सुमित गौड़ व सतबीर डागर मौजूद थे। इस मौके पर कांग्रेसियों ने कहा हम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से पूछना चाहते हैं कि इस तुगलकी फरमान से क्या हासिल हुआ।

बीजेपी के अलावा नोटबंदी से किस को फायदा हुआ। काले धन के नाम पर नोटबंदी लागू की गई थी। जबकि 99.3 फीसदी पुराने नोट आरबीआई के पास लौट आए हैं तो फिर कालाधन कहा है। नोटबंदी की तबाही से उभरने के लिए भारतीय अर्थव्यवस्था अभी भी संघर्ष कर रही है। भ्रष्टाचार खत्म करने से लेकर आंतकवाद के खिलाफ लडऩे तक, टैक्स व्यवस्था में ज्यादा से ज्यादा हासिल करने से लेकर कैशलैस अर्थव्यवस्था बनाने तक सारे उद्देश्य फेल रहे।

इस सनक भरे फैसले से देशभर में करीब 150 लोगों की जान चली गई। जीडीपी डेढ़ फीसदी गिर गई, करीब 3.5 मिलियन लोगों ने नौकरियां खो दीं तथा असंगठित क्षेत्र पूरी तरह से बर्बाद हो गया। कांग्रेसियों ने प्रधानमंत्री मोदी से मांग की कि आप भारत की जनता से नोटबंदी के फैसले पर माफी मांगने की हिम्मत कब जुटाएंगे। इस मौके पर ज्ञानचंद आहूजा, डा. धर्मदेव आर्य, एसएल शर्मा, अनीशपाल, आरडी वर्मा, केसी शर्मा, हरजीत सिंह सेवक, संजय सैफी, रंधावा फागना, रामजीलाल, लुकमान खंदावली, अशोक रावल सहित सैकड़ों कार्यकर्ता व पदाधिकारी मौजूद थे।

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here