मारवाड़ी समाज ने बड़े ही हर्षोल्लास से मनाया गणगौर उत्सव

0

Faridabad/Atulya loktantra : मारवाड़ी समाज फ़रीदाबाद ने सेक्टर 28 रघुनाथ मंदिर में बड़े ही हर्षोल्लास से गणगौर उत्सव मनाया। कमल आगीवाल ने बताया कि होलिका दहन के दूसरे दिन से 18 दिन तक ईशर (शिव) और गौर (पार्वती) भगवान शिव पार्वती की पूजा की जाती हैं | कुंवारी लड़कियां पूजा करते हुऐ दुब और पानी के छींटे देते हुये “गौर ये गणगौर माता खोल किंवाड़ी” गीत गाती हैं और मनपसंद वर पाने के लिये गौरी से प्रार्थना करती हैं राजस्थान में ये पर्व आस्था प्रेम और सौहार्द का सबसे बड़ा पर्व होता हैं | विवाहित महिलाये भी अपने पति कि लम्बी आयु पाने के लिये पूजा अर्चना करती हैं |

रविवार को राजस्थानी परिवार ने फ़रीदाबाद सैक्टर 28 में गणगौर उत्सव की भव्य शोभायात्रा निकाली पूरे मार्केट में नाचते गाते हुये बच्चो बुजुर्गो और महिलाओं ने शानदार प्रस्तुति पेश की मार्केट के सभी लोगों ने इस पर्व की ख़ूब प्रसंशा की | राजेंद्र मुंद्रा बताया की ऐसे सामाजिक कार्य होते रहने चाहिए जिससे समाज कि इस संस्कृति को जीवित रखा जा सके और आने वाली पीढ़ी भी अपनी संस्कृति अपनी धरोहर की पहचान को संजोकर रख सकें समाज की महिलाओ ने गणगौर के गीत “म्हारी गौरा तीसाइं ओ राज” ‘गौर गौर गोमती ईशर पूजे पार्वती” जैसे गीतों की शानदार प्रस्तुति दी मौके पर मारवाड़ी समाज के गणमान्य डी के महेश्वरी, राजेंदर मुंधरा, विमल खंडेलवाल, मधुसुधन माटोलिया, विमल महेश्वरी, कमल सेवदा, वेद प्रकाश खंडेलवाल, मनमोहन सोमानी, सुशील नेवर, एम पी रूंगटा ,पीएम जिंदल, ए आर करवा, संगीता आगीवाल, कंचन महेश्वरी, सम्पत शर्मा, बबीता आगीवाल, शुभ्रा , कंचन गुप्ता, समाज के महिलाएं बच्चे व अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे |

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here