अवतार भड़ाना को फरीदाबाद शहरवासियों से अधिक मेवातियों के वोट पर भरोसा

0

Faridabad/Atulya Loktantra : फरीदाबाद से कांग्रेस पार्टी के लोकसभा प्रत्याशी अवतार सिंह भड़ाना पूर्व में तीन बार फरीदाबाद के सांसद रहे हैं, फरीदाबाद शहरवासी शायद सोचते होंगे कि उनके वोट से अवतार भड़ाना सांसद बनते रहे हैं लेकिन फरीदाबाद शहरवासियों की ये गलतफहमी खुद अवतार भड़ाना ने दूर कर दी. अवतार भड़ाना के हथीन क्षेत्र के रुपनाका एरिया में दिया गया एक भाषण वायरल हो रहा है जिसमें वो बता रहे हैं कि –

मैं मेवात का बेटा हूँ
मेवात से ही मुझे पूरे हिंदुस्तान में पहचान मिली
मेवात ने ही मुझे तीन बार सांसद बनाया
मेवात से ही दुनिया के कई मुल्कों में इस्लाम के प्रचार का सिलसिला शुरू हुआ
जालिमों ने मेरे कुनबे को फरीदाबाद से निकाल दिया वरना कृष्णपाल जैसे लोग घूमते रहते थे
मैंने मेवात से ही तहजीब सीखी है, यहाँ से लोगों की सेवा करनी सीखी है
अल्लाह के हुक्म से 1988 में मैं मिनिस्टर बनकर आया था
फरीदाबाद में 40 फ़ीसदी वोटिंग होगी, तुम लोग 95 फ़ीसदी वोटिंग कर दोगे तो तुम्हारे 6 लाख वोट 14 लाख वोटों पर चोट करेगी.
इस मौके पर अवतार भड़ाना के समर्थन में मुस्लिम समाज के हजारों लोग आये थे. भीड़ देखकर अवतार भड़ाना जोश में आ गए और उपरोक्त विवादित भाषण दे डाला.

AdERP School Management Software

अगर अवतार भडाना के भाषण पर नजर डाली जाए तो साफ़ है कि उन्हें फरीदाबाद शहरवासियों से अधिक मेवातियों के वोटों पर अधिक भरोसा है, हथीन क्षेत्र में कुछ स्थानों पर मुस्लिम बहुसंख्यक हैं और मेवात से सम्बन्ध रखते हैं, अवतार भड़ाना उनकी संख्या 1 लाख मानते हैं, उन्होंने भाषण में कहा कि तुम 1 लाख वोट दे देना मैं विधानसभा चुनाव में आपके उम्मीदवार को एक लाख से अधिक वोट दिलवाऊंगा.

अवतार भड़ाना ने अपने भाषण में यह भी कहा कि – मेवात से ही दुनिया के कई देशों में इस्लाम के प्रचार का सिलसिला शुरू हुआ, अवतार ने ये सब मुस्लिमों को खुश करने के लिए कहा, अवतार मानते होंगे कि इस्लाम की बात करके मुस्लिम समाज के लोग खुश हो जाएंगे और उन्हें वोट देंगे.

इसके अलावा अवतार भड़ाना ने यह भी कहा – जिसकी बिना इजाजत एक पत्ता भी नहीं हिलता अल्ला के हुक्म से मैं 1988 में मिनिस्टर बनकर आया था. अपने भाषण में अवतार ने अल्ला का भी जिक्र किया क्योंकि उनकी नजर में अल्ला बोलने से मुस्लिम समाज खुश हो जाएगा और उन्हें वोट देगा. अवतार भड़ाना यह भी मानते हैं कि वोटिंग के मामले में शहर के लोग लापरवाह और सुस्त होते हैं. उन्होंने कहा कि शहर के लोग धूप में निकलते नहीं, फरीदाबाद में 40 फ़ीसदी वोटिंग होगी, तुम लोग 95 फ़ीसदी वोटिंग कर देना और वोट की चोट कर देना. एक तरह से अवतार भड़ाना ने ध्रुवीकरण करने की कोशिश की है.

अगर अवतार भडाना के भाषण की एनालिसिस करें तो यही समझ में आता है कि उन्हें फरीदाबाद शहवासियों के वोट पर भरोसा नहीं है, वे यह मानकर चल रहे हैं कि शहर में उनके पक्ष में वोटिंग नहीं होगी इसलिए मेवातियों से अधिक वोटिंग करने की अपील कर रहे हैं. उन्हें मेवातियों के वोटों पर अधिक भरोसा है.

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here