भारत की स्वदेशी कोरोना वैक्सीन का नहीं दिखा कोई साइड इफेक्ट, पहले चरण का ट्रायल सफल

11

New Delhi/Atulya Loktantra : भारत बायोटेक की स्वदेशी कोरोना वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ ने पहले फेज के क्लीनिकल ट्रायल में बेहतर इम्यून रिस्पॉन्स दिखाया है. ट्रायल के दौरान इस वैक्सीन का वालंटियर पर कोई साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिला है. पहले चरण के क्लीनिकल ट्रायल के अंतरिम नतीजों से पता चला है कि सभी आयुवर्ग के समूहों पर कोई गंभीर या प्रतिकूल प्रभाव देखने को नहीं मिला है. विदेशी पोर्टल ‘मेडआरएक्सआईवी’ में दावा किया गया है कि वैक्सीन पूरी तरह से सेफ और इफेक्टिव है. भारत बायोटेक की इस वैक्सीन का पहले चरण का क्लीनिकल ट्रायल सितंबर महीने में ही समाप्त हो गया था, जिसके नतीजे अब सार्वजनिक किए गए हैं.

साल 2020 अब अपने अंत की ओर है और इसी के साथ कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग में कुछ पॉजिटिव खबरें आने लगी हैं. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के सहयोग से भारत बायोटेक द्वारा विकसित स्वदेशी कोविड-19 टीका ‘कोवैक्सीन’ के पहले चरण के क्लीनिकल परीक्षण के अंतरिम नतीजों से पता चला है कि सभी आयुवर्ग के समूहों पर कोई गंभीर या प्रतिकूल प्रभाव देखने को नहीं मिला है.

परिणाम के मुताबिक, ‘प्रतिकूल असर का एक गंभी