किसान आंदोलन: चार राज्यों की महिलाएं पीएम को भेजेंगी खेत की मिट्‌टी और खून से लिखी चिट्‌ठी

0
File Photo

Chandigarh/Atulya Loktantra: कृषि कानूनों के विरोध में बॉर्डर पर बैठे किसान आज महिला किसान दिवस मना रहे है। कुंडली बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में आज महिलाओं के हाथ ही मंच की कमान रहेगी। पंजाब, हरियाणा, यूपी व तमिलनाडु की महिलाएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खेत की मिट्‌टी व खून से लिखी चिट्‌ठी भेजेंगी। महिलाएं आज देश के जवानों की रक्षा के लिए रक्तदान भी करेंगी। संयुक्त किसान मोर्चा ने भी महिला दिवस मनाने की पूरी तैयारी कर ली है। पंजाब से काफी संख्या में महिलाएं कुंडली बॉर्डर पर पहुंच चुकी है। महिलाओं के रहने व खाने की समुचित व्यवस्था की गई है।

टीडीआई सिटी में पंजाब की महिलाओं व उनके बच्चों के लिए फ्लैट किराए पर लिए गए हैं। खालसा एड, अकाल एड व ब्रिटिश सिख कांउसिल की टीम लगातार महिलाओं की टीम को मॉनिटरिंग कर रही है। केएफसी मॉल के पास की कॉलोनी में भी महिलाओं के ठहरने की व्यवस्था की गई है। पंजाब की महिलाएं अपने साथ खेत की मिट्‌टी लेकर आ रही हैं। वे पंजाब की उपजाऊ धरती की मिट्‌टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजेंगी। अमृतसर व लुधियाना की महिलाएं अपने खून से पीएम के नाम चिट्‌ठी लिखेंगी। मंच पर मुख्य वक्ता महिलाएं होंगी। इनमें एडवोकेट, शिक्षिका, समाजसेविका, महिला खिलाड़ी विचार सांझा करेंगी। मंच पर महिलाओं के ही भाषण होंगे। महिलाएं ही आज भूख हड़ताल पर बैठेंगी।

हरियाणा: कई गांवों से ट्रैक्टर-ट्रॉलियों में पहुंचेंगी महिलाएं
बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों के अनुसार गांव- गांव से महिलाएं अपनी हरियाणी पहनावे के साथ किसान महिला दिवस में शामिल होने के लिए आएंगी। महिलाओं मे जोश है और वे किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर इस आंदोलन में सहयोग कर रही हैं।

यूपी: सोनीपत के साथ लगते गांवों से भी पहुंचेंगी महिलाएं
महिला किसान नेत्री के अनुसार यूपी की महिलाएं गाजीपुर व कुंडली बॉर्डर पर पहुंचेंगी। सोनीपत के साथ लगते यूपी के गांवों की महिलाएं भारतीय किसान यूनियन टिकैत व भारतीय किसान यूनियन अंबावत्ता के बेनर तले महिला किसान दिवस मनाने के लिए यहां आएंगी।

तमिलनाडु: 71 महिलाओं का जत्था पहुंचा, 10 दिन रुकेंगी
तमिलनाडु की पीपुल्स पॉवर संगठन के बेनर तले 71 महिलाओं का एक जत्था कुंडली बॉर्डर पर पहुंच गया है। संगठन की सदस्य ने कहा कि किसान आंदोलन केवल पंजाब व हरियाणा का नहीं, बल्कि पूरे देश का है। अब महिला किसान दिवस को लेकर कुंडली बॉर्डर पर पहुंची है। वे अब 10 दिन तक यहां किसानों की आवाज को बुलंद करेंगी।

संयुक्त मोर्चा: राज्यपाल के घर के सामने डालेंगे पड़ाव
संयुक्त मोर्चा ने 18 जनवरी को सभी जिलों में महिला किसान दिवस मनाने की घोषणा कर रखी है। बंगाल में 20 से 22 जनवरी, महाराष्ट्र में 24 से 26 जनवरी, केरल, तेलंगाना, आंध्रा में 23 से 25 जनवरी और ओडिशा में 23 जनवरी को राज्यपाल के हाउस के सामने पड़ाव डाला जाएगा। संयुक्त किसान मोर्चा की टीम पंजाब में भी काम कर रही है। पंजाब के 22 जिलों की महिलाओं के जत्थे पहुंच चुके हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें