उत्तर भारत में शीतलहर, धुंध से कई ट्रेनें लेट, लद्दाख में जमी नदी, जानें कब मिलेगी ठंड से राहत

0

New Delhi/Atulya Loktantra: राष्ट्रीय राजधानी समेत पूरे उत्तर भारत में एक बार फिर शीतलहर का कहर लोगों के लिए परेशानी बन चुका है. शुक्रवार की सुबह यहां का तापमान 5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो कि गुरुवार को 3.8 डिग्री सेल्सियस था. मौसम विभाग के मुताबिक सर्द, शुष्क पश्चिमी हवाओं के मैदानी इलाकों में बहने से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. साथ ही घने कोहरे के कारण भी विजिबिलिटी कम हो गई.

विभाग के मुताबिक शुक्रवार को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 5 डिग्री और अधिकतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है. उत्तर रेलवे के सीपीआरओ ने बताया कि घने कोहरे के कारण शुक्रवार को 27 ट्रेनें देरी से चल रही हैं.सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के मुताबिक शुक्रवार की सुबह दिल्ली की हवा बहुत खराब श्रेणी में दर्ज की गई, यहां हवा की गुणवत्ता (AQI) का स्तर 346 दर्ज किया गया.

इन राज्यों में बारिश की संभावना

स्काईमेट वेदर रिपोर्ट के मुताबिक अगले 24 घंटों में मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है. वहीं, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान में शीतलहर जारी रह सकती है. यही नहीं कई मैदानी इलाके वाले राज्यों जैसे राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश में पाला पड़ने की भी संभावना जताई गई है.

कब मिलेगी कड़ाके की ठंड से राहत?

मौसम वैज्ञानिकों ने दो फरवरी को घाटी में ताजा पश्चिमी विक्षोभ के दस्तक देने का पूर्वानुमान लगाया है.पश्चिमी विक्षोभ के दस्तक देने के बाद उत्तर भारत में तापमान में बढ़ोत्तरी हो सकती है, जिसके बाद लोगों को शीतलहर से राहत मिल सकती है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार मैदानी इलाकों में न्यूनतम तापमान के 4 डिग्री सेल्सियस से कम होने पर शीत लहर की घोषणा की जाती है. वहीं, जब तापमान 2 डिग्री सेल्सियस या उससे भी कम हो जाए तो भीषण शीत लहर घोषित की जाती है.

इससे पहले दिल्ली मंगलवार को भी शहर शीत लहर की चपेट में ही थी, क्योंकि न्यूनतम तापमान 2.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज की गई थी, जो कि सामान्य तापमान से 7 डिग्री सेल्सियस कम है. विभाग के मुताबिक शुक्रवार यानी आज भी शहर में शीत लहर की स्थिति बनी रहने की संभावना है और न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है.

लद्दाख में जम गई नदी
लद्दाख में चादर ट्रैक पर नदी के जम जाने से सैलानियों के खुशी का ठिकाना नहीं है. नदी के जम जाने के कारण लोग इस पर स्कीइंग और स्केटिंग का लुत्फ उठा रहे हैं.

शीतलहर की चपेट में मध्य प्रदेश
मध्य प्रदेश का बड़ा भाग शीतलहर की चपेट में है. मौसम विभाग के मुताबिक छतरपुर और दतिया जिलों में शुक्रवार को कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना है. वहीं, प्रदेश के 24 स्थानों पर पिछले 24 घंटों में न्यूनतम तापमान 3 से 10 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया.

विभाग ने अनुमान जताया है कि रायसेन, उमरिया, टीकमगढ़ और सागर जिलों के अलावा रीवा, ग्वालियर और चंबल संभाग के कुछ हिस्सों में भी शीत लहर चलने की संभावना है. विभाग ने कहा कि छतरपुर, बालाघाट, रीवा, सतना और ग्वालियर के अलग-अलग स्थानों पर हल्का या मध्यम कोहरा छा सकता है. शनिवार को प्रदेश में लोगों को कड़ाके की ठंड से राहत मिलने की उम्मीद है.

राजस्थान में कड़ाके की सर्दी
राजस्थान में ज्यादातर इलाकों में कड़ाके की सर्दी जारी है. विभाग के अनुसार राज्य के अनेक हिस्सों में सर्दी का दौर जारी रहेगा. विभाग ने अगले 24 घंटे में अलवर, भीलवाड़ा, भरतपुर, चित्तौड़गढ़, झुंझुनू, सीकर, उदयपुर जिलों में शीत लहर से अति शीत लहर का अनुमान लगाया है. वहीं भीलवाड़ा, सीकर, झुंझुनूं, चित्तौड़गढ़ जिले में कुछ जगह पाला पड़ने की संभावना जताई है.