बंगाल : जय श्रीराम के नारे को लेकर विवाद जारी, TMC विधायक ने BJP नेताओं को कहा बंदर

0
File Photo

Kolkata/Atulya Loktantra : विक्टोरिया मेमोरियल में पीएम मोदी और ममता बनर्जी की मौजूदगी में लगाए गए जय श्रीराम के नारे को लेकर पश्चिम बंगाल में सियासी पारा चढ़ता जा रहा है.पश्चिम बंगाल के मंत्री और तृणमूल कांग्रेस नेता ज्योतिप्रिय मल्लिक ने बीजेपी नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्हें बंदर कहा है.

हाबड़ा से विधायक मल्लिक ने कहा, जय श्रीराम के नारे जिस जगह पर लगाए गए ऐसे में मैं बीजेपी नेताओं को बंदर ही कहूंगा. बीजेपी नेताओं ने 23 जनवरी को बंदर की भूमिका निभाई है. विक्टोरिया मेमोरियल में आधिकारिक कार्यक्रम हो रहा था. प्रोटोकॉल के तहत जब प्रधानमंत्री वहां पहुंचे रहे थे तो राज्य की मुख्यमंत्री को वहां मौजूद रहना था और गवर्नर भी मौजूद थे. मेरा पहला सवाल यही है कि सरकारी गेस्ट कार्ड जो सिर्फ वरिष्ठ लोगों को दिया जाना था जिसपर अशोक स्तंभ भी अंकित था वो बीजेपी दफ्तर कैसे पहुंचा?

बीते रविवार को मल्लिक अपने विधानसभा क्षेत्र में थे और पत्रकारों से बात कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि बीजेपी के बंदरों को जय हिंद के नारे लगाने चाहिए थे. भगवान राम सिर्फ बीजेपी या मोदी की संपत्ति नहीं हैं. राम का भक्त मैं भी हूं. लेकिन भगवान राम के नाम का इस्तेमाल राजनीतिक मंच से नहीं किया जाना चाहिए.

मल्लिक ने कहा कि, सभ्य लोग ऐसा नहीं कर सकते लेकिन बंदरों ने ऐसा किया है. पीएम मोदी के जाने के बाद हम भी ऐसा कर सकते थे लेकिन हम लोगों ने ऐसा नहीं किया. हम हिंसा नहीं चाहते हैं लेकिन उन्होंने एक उंगली दिखाई है हम दो उंगली दिखाएंगे.

उन्होंने आगे कहा कि चुनावों में जनता इसका जवाब देगी. बीजेपी के राज्य प्रमुख दिलीप घोष, सांसद अर्जुन सिंह और विधायक सब्यसाची दत्ता ने पहले से ही सीएम ममता को परेशान और अपमानित करने की योजना बनाई थी. लेकिन उन्हें इस बात का ध्यान रखा चाहिए कि यह उन लोगों के अच्छा साबित नहीं होगा जो सीएम ममता का अपमान कर रहे हैं. यह सिर्फ एकतरफा नहीं रहेगा. अब न्यूटन का तीसरा नियम लागू होगा.

 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें