कांग्रेस में बदलाव की बयार, कन्हैया कुमार, जिग्नेश मेवाणी 28 सितंबर को थामेंगे कांग्रेस का हाथ

दिल्ली: कांग्रेस पार्टी में जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीएम के नेता कन्हैया कुमार की एंट्री को लेकर रास्ता साफ हो गया है। कन्हैया कुमार 28 सितंबर को दिल्ली में कांग्रेस का हाथ थामेंगे। पिछले कुछ महीने से उनके कांग्रेस में शामिल होने के लगातार खबरें आ रही थीं । लेकिन अब उनके ज्वाइनिंग की तारीख पक्की हो गई है। उनके साथ गुजरात के निर्दलीय विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी भी कांग्रेस में शामिल होंगे।

कांग्रेस में युवाओं की एंट्री

कांग्रेस में कन्हैया कुमार के शामिल होने का रास्ता साफ होने के बाद अब यह कहा जा सकता है कि कांग्रेस में अब बदलाव की बयार शुरू होगी। पिछले कुछ महीने से चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर उन्हें कांग्रेस में शामिल करने को लेकर कांग्रेस आलाकमान से मिल चुके हैं। कांग्रेस पार्टी जिस तरह से एक के बाद एक राज्य में अपना वजूद खोती जा रही है , उससे यह साफ हो गया था कि अब उसे बड़े बदलाव के साथ जनता के बीच जाना होगा। तभी वह बीजेपी और अन्य क्षेत्रीय दलों से मुकाबला कर सकती है, जिसकी शुरुआत बिहार और गुजरात से हो रही है।

कन्हैया कुमार को जानिए?

जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार का जन्म बिहार के बेगुसराय में हुआ था। कन्हैया कुमार ने दिल्ली में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के कैंपस में विवादित नारों के मामले में खूब सुर्खियां बटोरीं थी। इसी के बाद कन्हैया कुमार देश की राजनीति का हिस्सा बने । उन्होंने सीपीआई-एम, सीपीआई से अपना पहला चुनाव लड़ा।

कन्हैया कुमार अक्सर केंद्र सरकार के खिलाफ बयानों के लिए जानें जाते हैं। उन्होंने 2019 का लोकसभा चुनाव बिहार के बेगुसराय सीट से लड़ा था। लेकिन केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने उन्हें 4 लाख से अधिक वोटों के अंतर से हराया था।

Leave a Comment