क्या टाटा को वापस मिलेगा एयर इंडिया? विनिवेश के लिए लगाई बोली

कर्ज में डूबी सरकारी विमान कंपनी एयर इंडिया (Air India) के विनिवेश के लिए टाटा (TATA) ने बोली लगाई है। इस बात की जानकारी कंपनी के प्रवक्ता ने दी है। बीते कई सालों से सरकार (Indian Government) एयर इंडिया (Air India) में विनिवेश में लगी हुई है। जिसके बाद टाटा द्वारा बोली लगाये जाने पर एक बार फिर चर्चा शुरू होने लगी है कि, क्या टाटा को वापस मिलेगा एयर इंडिया?

आपको बता दें, एयर इंडिया (Air India) को खरीदने के लिए कई कंपनियों ने बोली लगाई। जिसमें टाटा ग्रुप (Tata Group) का नाम सबसे आगे रहा। एयर इंडिया को बेचने की प्रक्रिया पिछले साल जनवरी 2020 में शुरू कर दी गई थी लेकिन कोरोना महामारी (Coronavirus ) के चलते देरी होती गई। जिसके अब अप्रैल 2021 में सरकार ने योग्य कंपनियों से बोली लगाने को कहां और 15 सितम्बर इसका आखिरी दिन रहा।

साल 2020 में भी टाटा ने एयर इंडिया के अधिग्रहण को लेकर रुचि पत्र दिया था। 2017 में नीलामी के प्रयास शुरू किए गए थे, लेकिन उस दौरान किसी कंपनी ने भी इसमें रूचि नहीं दिखाई थी। 2007 में घरेलू ऑपरेटर इंडियन एयरलाइंस के साथ विलय के बाद से एयर इंडिया घाटे (Air India in loss) का शिकार होती हुई।

टाटा ग्रुप ने की थी एयर इंडिया की शुरुआत

एयर इंडिया की शुरुआत टाटा ग्रुप (Air India launched by Tata Group) ने ही 1932 में की थी । लेकिन सरकार ने 1953 में इसे अपने अधिकार क्षेत्र में ले लिया था। टाटा ग्रुप के जे. आर. डी. टाटा (JRD Tata) जो की एक कुशल पायलट थे इन्होने ही इसकी शुरुआत की थी (air india founded by J.R.D. Tata ) । अब जो भी एयर इंडिया कंपनी को खरीदेगा उसे 4400 घरेलू उड़ानें, देश में 1800 अंतर्राष्ट्रीय लैंडिंग और पार्किंग की जगह मिलेगी। लेकिन अगर टाटा के साथ सरार का सौदा पक्का हुआ तो 67 साल बाद एयर इंडिया की घर वापसी होगी।

Leave a Comment