क्या है बीजेपी और बागियों के बीच के सत्ता का फॉर्मूला?

महाराष्ट्र के सियासी संकट के बीच आज राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। देवेंद्र फडणवीस दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। आज फडणवीस की अमित शाह से मुलाकात करेंगे। वकील महेश जेठमालानी भी दिल्ली पहुँच रहे हैं। चर्चा ये भी है कि जेठमालानी फडणवीस के साथ ही दिल्ली गये हैं। जेठमलानी राज्य सभा सांसद भी हैं। वहीं एकनाथ शिंदे भी आज गोवाहाटी से दिल्ली के लिए रवाना होंगे, जहां उनकी फडणवीस के साथ मुलाकात करेंगे। चर्चा है कि बीजेपी एकनाथ शिंदे और बागी विधायकों को साथ लेकर सरकार बना सकती है। अंदरखाने ऐसी भी बातचीत चल रहीं हैं कि शिंदे और बीजेपी कैंप में सरकार बनाने की शर्तों पर विचार-विमर्श हो रहा है। ऐसे में आइए जानते हैं कि दोनों के बीच सरकार बनाने को लेकर क्या साझा फॉर्मूला हो सकता है।

महाराष्ट्र में सरकार बनाने का फॉर्मूला 

महाराष्ट्र में सरकार बनाने का फॉर्मूला लगभग तैयार है। सूत्रों के अनुसार शिंदे सहित सभी दलों का कैबिनेट में प्रतिनिधित्व होगा। छह विधायकों पर एक कैबिनेट और एक राज्य मंत्री दिया जाएगा। शिवसेना के एकनाथ शिंदे कैंप को 6 कैबिनेट और 6 राज्य मंत्री  बनाए जा सकते हैं। बीजेपी के 18 कैबिनेट मंत्री होंगे और तक़रीबन 10 राज्यमंत्री बनाए जाएँगे। वहीं कहां जा रहा है कि एकनाथ शिंदे खुद के लिए डिप्टी सीएम का पद भी मांग सकते हैं।

मौजूदा मंत्रालय ही चाहते हैं बागी

एकनाथ शिंदे गुट के बागी मंत्री मौजूदा मंत्रालय ही चाहते हैं। मौजूदा बागी गुट में शिंदे के साथ महाराष्ट्र सरकार के साथ 8 मंत्री हैं। ऐसे में शिंदे गुट वही मंत्रालय चाहता है जो कि इन विधायकों के पास पहले से थे। कल ही इन मंत्रियों से विभाग छीनकर दूसरे विधायकों को सौंपे गये हैं। इसके साथ ही पिछले एक महीने में लिये गए इनके अहम फैसलों को उद्धव सरकार ने रोक दिया है।

 

Leave a Comment