भारत में नहीं आएगी कोरोना की तीसरी लहर, वैज्ञानिकों ने दी खुशखबरी

    0
    6

    Coronavirus Third Wave: कोरोना वायरस की दूसरी लहर का भयंकर प्रकोप कम होने के बाद अब तीसरी लहर की संभावनाओं ने सभी देशों की चिंता बढ़ा दी है। इस बीच विशेषज्ञों ने एक ऐसा खुलासा किया है, जिससे भारत को बड़ी राहत मिल सकती है। दरअसल, कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंका के बीच प्रमुख सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने कहा है कि अगर अब कोरोना का कोई नया वेरिएंट नहीं आया तो फिर तीसरी लहर भी देश में नहीं आएगी।

    जी हां, विशेषज्ञों का कहना है कि अगर कोरोना वायरस म्यूटेंट होकर अपना रूप नहीं बदलता है तो फिर देश में तीसरी लहर के आने की संभावना कम है। विशेषज्ञों ने कहा है कि भारत के कोविड-19 की तीसरी लहर की चपेट में आने की संभावना अब कम है। वहीं, संक्रमण के मामलों में आई गिरावट भी फिलहाल इस संभावना को पुष्ट करता है। बता दें कि अब तक भारत ने कोरोना की दो लहरों का सामना किया है, पहली और दूसरी। दूसरी लहर में काफी ज्यादा भयानक हालात देखने को मिले थे और इस दौरान बड़ी तादाद में संक्रमितों ने अपनी जान गंवाई।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News

    नया वेरिएंट नहीं तो तीसरी लहर भी नहीं

    वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर कोई तेजी से फैलने वाले म्यूटेंट भारत में नहीं आता है तो तीसरी लहर के आने की संभावना भी कम होगी। आपको बता दें कि यह दावा भारत में कोरोना की प्रगति को ट्रैक करने वाला सूत्र (SUTRA) मॉडल देने वाले विशेषज्ञों ने किया है। SUTRA मॉडल को लिखने वाले विशेषज्ञों में शामिल आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मणिंद्र अग्रवाल ने कहा कि अगर कोरोना का कोई नया वेरिएंट नहीं आएगा तो तीसरी लहर नहीं आएगी।

    उन्होंने यह भी कहा कि अगर डेल्टा के सिवाय किसी नए वेरिएंट की एंट्री नहीं होती है तो इससे साफ है कि हम कोरोना के खिलाफ जंग जीत रहे हैं। वहीं, केरल में कोरोना के बिगड़ते हालात पर प्रोफेसर अग्रवाल ने कहा कि देश ने वायरस पर लगभग काबू पा लिया है और केरल में कोरोना काबू होते ही देशभर में कोविड-19 काबू पाया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि अगले एक महीने में केरल में भी संक्रमितों की संख्या नियंत्रण में आ जाएगी।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News
    Previous newsपरीक्षाओं की तारीख का हुआ एलान, यहां देखें पूरा शेड्यूल
    Next newsShare Market: कई दिनों से छलांग लगा रहे बाजार की सपाट शुरुआत, निफ्टी में गिरावट, निवेशकों के हौसले पस्त
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here