Sukhjinder Singh Randhawa होंगे पंजाब के अगले सीएम, राज्यपाल से मिलने का समय मांगा

नई दिल्ली: पंजाब कांग्रेस में कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद मुख्यमंत्री चयन को लेकर सस्पेंस खत्म होने वाला है। रंधावा ने राज्यपाल से मिलने का समय मांग लिया है। पंजाब कांग्रेस की तरफ से पार्टी हाई कमान को मुख्यमंत्री के लिए सुखजिंदर सिंह रंधावा (Sukhjinder Singh Randhawa) का नाम भेज दिया गया है। इसी के साथ उनका मुख्यमंत्री बनना तय हो गया है। कुछ ही देर में उनके नाम को आलाकमान की मंजूरी मिल जाने की उम्मीद है। अब सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को पार्टी के इस प्रस्ताव पर फैसला लेना है। इससे पहले अंबिका सोनी का नाम मुख्यमंत्री के लिए चल रहा था, जिसे उन्होंने ठुकरा दिया था। इस बीच राहुल गांधी भी सोनिया गांधी से मिलने पहुंच चुके हैं।

सूत्रों की मानें तो पार्टी में सुखजिंदर सिंह रंधावा (Sukhjinder Singh Randhawa) के साथ दो उपमुख्यमंत्री बनाए जाने हैं। इसमें अरुणा चौधरी (Aruna Chowdhary) और भारत भूषण आशु (Bharat Bhushan Ashu) को उप मुख्यमंत्री बनाए जाने की बात कही जा रही है। वहीं कांग्रेस हाई कमान को मुख्यमंत्री के लिए नाम भेजे जाने के बाद सुखजिंदर सिंह रंधावा (Sukhjinder Singh Randhawa) के घर पर विधायकों और कांग्रेस नेताओं का जमावड़ा लग गया है। उनकी सुरक्षा बढ़ा दी गई है। बताया जा रहा है कि रंधावा के नाम पर मोहर लग गई है, केवल घोषणा की औपचारिकता होनी बाकी है।

बता दें कि कभी अमरिंदर के करीबी रहे 62 वर्षीय सुखजिंदर सिंह रंधावा (Sukhjinder Singh Randhawa) मुख्यमंत्री के खिलाफ बगावत की अगुआई कर रहे थे। अमरिंदर जब 2007 और 2017 के बीच सत्ता से बाहर थे, तो रंधावा मजबूती से उनके साथ खड़े थे और मुख्यमंत्री और पार्टी आलाकमान के बीच एक महत्वपूर्ण कड़ी बने हुए थे। 2017 में अमरिंदर जब मुख्यमंत्री बने तो रंधावा को अपने कैबिनेट में साल भर तक जगह नहीं दी। अमरिंदर ने 2018 में उन्हें जेल और सहकारिता विभाग का प्रभार दिया। यह रंधावा को कुछ खास पसंद नहीं आया। इसके बाद रंधावा ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया। अब ऐसा माना जा रहा है कि उनके इस मोर्चे के इनाम के रूप में पंजाब सरकार की कमान उन्हें दी जा सकती है। क्योंकि कैप्टन अमरिंदर सिंह इस समय पंजाब कांग्रेस में हाशिए पर चले गए हैं।

Leave a Comment