Shardiya Navratri 2021: नवरात्रि में है घूमने का प्लान, तो जान लीजिये अलग-अलग राज्यों में मनाने का तरीका

Navratri 2021: नवरात्रि का हिंदुओं का प्रमुख त्योहार है। इस बार नवरात्रि 7 अक्टूबर, 2021 (Navratri 2021) गुरुवार से शुरू होगी और समापन 15 अक्टूबर को होगा। 9 दिन तक चलने वाले माता के नवरात्रों का भक्तों को बेसर्बी से इंतजार होता है। अगर आप नवरात्रि में कहीं घूमने का प्लान बना रहे हैं तो सबसे पहले जान लीजिये कि भारत के अलग अलग राज्यों में नवरात्रि किस तरह मनाई जाती है। हालांकि नवरात्रि (Shardiya Navratri 2021) देवी दुर्गा को समर्पित है, लेकिन दक्षिण भारत के कुछ राज्य इसे ज्ञान की देवी सरस्वती जैसे अन्य हिंदू देवताओं को भी समर्पित करते हैं। आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि भारत के अलग-अलग राज्यों में किस तरह नवरात्रि मनाई जाती है।

पश्चिम बंगाल और असम में कैसे मनाई जाती है नवरात्रि

देवी दुर्गा, भगवान गणेश, कार्तिकेय, मां सरस्वती और लक्ष्मी की सुंदर मूर्तियों को स्थापित करने के लिए पश्चिम बंगाल (West Bengal) में हर साल अलग अलग थीम पर भव्य पंडाल सजाये जाते हैं। दशमी के दिन देवी को धूमधाम से विदा किया जाता है। असम, झारखंड और त्रिपुरा में भी देवी की पूजा करने की इसी तरह की प्रथा का पालन करता है। पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा के दौरान ढाक की थाप पर नाचना, स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद उठाना, सुंदर पोशाक पहनना, अवश्य किया जाना चाहिए।

उत्तर प्रदेश और बिहार में नवरात्रि रामलीला के साथ मनाई जाती है। इस दौरान भगवान राम के जीवन को नाटकीय रूप में सिनेमाघरों, मंदिरों और ग्रामीण क्षेत्रों में पंडाल आदि लगा कर दिखाया जाता है। यूपी और बिहार राज्यों में दुर्गा पूजा के तरीके में कई समानताएं हैं। वे पूजा के अंतिम दिनों में छोटी लड़कियों को पूजते हैं। पवित्र मंदिरों में देवी की विशेष पूजा करने के अलावा, स्थानीय लोग पंडाल सजाते हैं और दुर्गा सप्तशती का पाठ करते हैं।

राजस्थान

राजस्थान में नवरात्रि प्रसिद्ध दशहरा मेला ((Dussehra Mela) देखने लायक है। यहां रावण का सबसे ऊंचा, 72 फुट का पुतला लगाया जाता है और फिर उसे दशहरे पर फूंका जाता है। बाद में, राजस्थान के विभिन्न शहरों में धनतेरस तक 20 दिनों के मेले का आयोजन किया जाता है, जो भारत में एक और धार्मिक त्योहार दिवाली की शुरुआत का प्रतीक है।

Leave a Comment