किसान आंदोलन के बीच लोगों को राहत, खुला गाजीपुर बॉर्डर, आवागमन हुआ शुरू

नई दिल्‍ली: तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन लगातार जारी है। ये किसान दिल्‍ली की सीमाओं पर डटे हैं। इनमें टीकरी बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर प्रमुख हैं। इस बीच दिल्ली ने पुलिस सोमवार को जानकारी दी है कि आम लोगों की सुविधा और कानून व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए दिल्ली से गाजियाबाद की ओर जाने वाली एनएच-24 को खोल दिया गया है।

एनएच-24 को खोल दिया गया

दिल्‍ली पुलिस ने कहा कि कानून व्‍यवस्‍था की स्थिति और आम लोगों की सहूलियत को देखते हुए दिल्‍ली से गाजियाबाद जाने वाले गाजीपुर बॉर्डर के कैरिजवे को खोल दिया गया है। दिल्‍ली पुलिस के मुताबिक ये फैसला गाजियाबाद जिला प्रशासन से विचार विमर्श के बाद लिया गया है। बता दें कि 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर रैली में हुई हिंसा के बाद ये रास्ता बंद किया गया था।

टिकैत का एलान- इस साल दिसंबर तक चलेगा आंदोलन

वहीं सोमवार को इस रास्‍ते के खुल जाने से आम लोगों को गाजियाबाद की ओर जाने में काफी सहूलियत हुई। सुबह से ही इस रास्‍ते पर वाहन दिखने लगे थे। गौरतलब है कि किसान पिछले साल नवंबर से ही दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। इस बीच राकेश टिकैत ने रविवार को प्रयागराज में कहा है कि भारतीय किसान यूनियन की अगुवाई में चल रहे किसान आंदोलन के इस साल दिसंबर तक चलने की संभावना है।

सीमा पर स्थायी ढांचे न बनाने की अपील

उधर संयुक्त किसान मोर्चा ने आंदोलन कर रहे किसानों से दिल्ली की सीमाओं पर स्थायी ढांचे नहीं बनाने की रविवार को अपील की। हरियाणा के सोनीपत जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग 44 पर, जो दिल्ली की सिंघू बॉर्डर पर प्रदर्शन स्थल के निकट है, वहां पक्की दीवार खड़ी करने तथा बोरवेल की खुदाई करने को लेकर हरियाणा पुलिस ने किसानों के खिलाफ दो मामले दर्ज किए हैं। इसके बाद, एसकेएम का यह बयान आया।

Leave a Comment