लाल चंदन की तस्करी करने वाले रैकेट का भंडाफोड़, पौने 2 करोड़ का माल बरामद

    3

    मुंबई क्राइम ब्रांच ने दुर्लभ लकड़ी रेड सैंडर्स यानी लाल चंदन की तस्करी करने वाले एक रैकेट का भंडाफोड़ किया है. क्राइम ब्रांच की टीम ने मुंबई से लगभग 1.78 करोड़ रुपये के रेड सैंडर्स के साथ चार लोगों को गिरफ्तार किया है. रेड सैंडर्स को लाल चंदन के अलावा रैक्ट चंदन के रूप में भी जाना जाता है. यह दुर्लभ लकड़ी केवल दक्षिण भारत के रायलसीमा क्षेत्र के जंगलों में पाई जाती है.

    इस लड़की का इस्तेमाल औषधी बनाने और कलाकृतियों व फर्नीचर बनाने के लिए किया जाता है, जो बेहद दुर्लभ और अत्यधिक महंगे होते हैं. हाल के वर्षों में मध्य पूर्व, यूरोप और चीन के देशों में लाल चंदन की तस्करी के कई मामले सामने आ चुके हैं.

    बीते 3 अप्रैल को, मुंबई क्राइम ब्रांच की यूनिट 5 के अधिकारियों को सूचना मिली कि धारावी में सायन-महिंक रोड से रेड सैंडर्स की एक बड़ी खेप ले जाई जा रही है. इसी सूचना के आधार पर क्राइम ब्रांच की टीम ने वहां जाल बिछाया. यूनिट 5 के वरिष्ठ पुलिस इंस्पेक्टर मोहिनी लोखंडे ने मौके से रेड सैंडर्स लेकर तेज गति से भागते एक टेम्पो की पहचान की.

    इसके बाद मुखबिरों से पता चला कि उस टेंपो ने अंधेरी के सहर रोड पर स्थित एक गोदाम में लाल चंदन की लकड़ी अनलोड की थी. जानकारी मिलते ही क्राइम ब्रांच की टीम ने उस गोदाम पर छापा मारा और वहां से 1779.585 किलोग्राम रेड सैंडर्स यानी लाल चंदन बरामद किया. साथ ही वहां से चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया. जिनसे आगे की पूछताछ की जा रही है.

    आरोपियों के खिलाफ आईपीसी समेत वन संरक्षण अधिनियम, वृक्ष संरक्षण और संरक्षण अधिनियम की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. यह केस मुंबई के धारावी पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया है. आरोपियों से उनके अन्य साथियों के बारे में पूछताछ की जा रही है, जिन्होंने दक्षिण भारत से लकड़ी की तस्करी करने में मदद की. और उन लोगों के बारे में भी पता लगाया जा रहा है, जिन्हें ये दुर्लभ लकड़ी पहुंचाई जानी थी.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here