मूसेवाला मर्डर केस में 50 जगहों पर छापे: दिल्ली-NCR, हरियाणा और पंजाब पहुंची NIA टीमें

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने सोमवार को सिंगर सिद्धू मूसेवाला मर्डर केस में 50 जगहों पर छापे मारे हैं। NIA की टीमें दिल्ली, NCR, हरियाणा और पंजाब में कई ठिकानों में पहुंची हैं। यहां गैंगस्टर्स की तलाश की जा रही है। NIA के पास इनपुट्स हैं कि सिद्धू मूसेवाला मर्डर का कनेक्शन टेरर ग्रुप्स से है।

NIA ने इस केस में नीरज बवाना, लॉरेंस बिश्नोई और ताजपुरिया गैंग से जुड़े लोगों की लिस्ट तैयार की है। एजेंसी का कहना है कि कुछ गैंगस्टर्स जेलों से भी ऑपरेट कर रहे हैं।

अब तक के बड़े अपडेट्स…

  • पंजाब में गैंगस्टर्स के 25 ठिकानों पर रेड हो रही है। इनमें गैंगस्टर लॉरेंस के फाजिल्का स्थित गांव दुतरांवाली स्थित घर, गोल्डी बराड़ के मुक्तसर स्थित घर रेड चल रही है।
  • कोटकपूरा में गैंगस्टर विनय दियोड़ा के घर, एक फैक्ट्री और अमृतसर में गैंगस्टर शुभम के घर रेड हुई है। लुधियाना में गैंगस्टर रवि राजगढ़ के घर रेड की गई है।

सभी गैंगस्टर्स के आतंकियों से कनेक्शन का शक
केंद्रीय गृह मंत्रालय को शक है कि इन सभी गैंगस्टर्स के आतंकियों से कनेक्शन हैं। इन्हें सीमा पार पाकिस्तान से हथियार मुहैया करवाए जा रहे हैं। मूसेवाला के मर्डर में भी पाकिस्तान से आए हथियार यूज होने का शक है। इसके अलावा यह भी संदेह है कि आतंकियों के कहने पर यह देश में माहौल खराब कर सकते हैं और भारत में टारगेट किलिंग कर सकते हैं। सरकार ने इन संगठनों को आतंकी की लिस्ट में डाला है।

पहली FIR में लॉरेंस गैंग के गैंगस्टर नामजद किए गए। जिनमें गैंग का मुखिया लॉरेंस, कनाडा बैठा गैंगस्टर गोल्डी बराड़, बिक्रम बराड़, काला जठेड़ी, जसदीप सिंह उर्फ जग्गू भगवानपुरिया, सचिन थापन, लॉरेंस का भाई अनमोल और लखबीर सिंह लंडा शामिल हैं। यह गैंग जेल के अलावा कनाडा, दुबई और पाकिस्तान से ऑपरेशन चला रहे हैं।

मूसेवाला का 29 मई को मानसा के गांव जवाहरके में कत्ल कर दिया गया था। इस मामले में पुलिस ने 24 कातिलों के खिलाफ मानसा कोर्ट में चार्जशीट पेश कर दी है। इसमें एनकाउंटर में मारे शूटर मन्नू और रूपा का भी ब्यौरा है। इसमें विदेश बैठे गैंगस्टरों में अब गोल्डी बराड़ और लिपिन नेहरा शामिल है। वहीं इस चार्जशीट में 166 गवाह बनाए गए हैं। मुंडी की गिरफ्तारी के बाद पुलिस जल्द सप्लीमेंट्री चालान पेश करेगी।

Leave a Comment