भाजपा के खिलाफ राहुल का हिंदू कार्ड, कांग्रेस के खिसकते जनाधार को पाने के लिए नया दांव

    0
    0

    Congress Hindu Card: कश्मीर दौरे के एक महीने बाद जम्मू के दो दिवसीय दौरे (Rahul Gandhi Jammu Visit) पर पहुंचे राहुल गांधी (Rahul Gandhi) बिल्कुल अलग अंदाज में दिखे। अपने दो दिवसीय दौरे की शुरुआत उन्होंने माता वैष्णो देवी के दरबार (Vaishno Devi Temple) से की। वह लंबी चढ़ाई पर पैदल चलकर ही माता के दरबार में पहुंचे।

    दौरे (Rahul Gandhi Jammu Daura) के दूसरे दिन कांग्रेस कार्यकर्ताओं (Congress Workers) के सम्मेलन में उन्होंने भाजपा (BJP) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने जय माता दी (Jai Mata Di) के नारों के साथ अपने भाषण की शुरुआत करके जम्मू दौरे (Jammu Daura) का एजेंडा पूरी तरह साफ कर दिया। जम्मू में राहुल हिंदू कार्ड (Rahul Hindu Card) खेल कर कांग्रेस की खिसक चुकी जमीन को पाने की कोशिश करते हुए दिखे।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News

    जम्मू-कश्मीर में 2008 के बाद से ही कांग्रेस (Congress) का जनाधार लगातार खिसकता जा रहा है। खास तौर पर जम्मू इलाके में भाजपा (BJP) अब काफी मजबूत हो चुकी है। माना जा रहा है कि राहुल गांधी ने भाजपा को जवाब देने के लिए हिंदू कार्ड (Hindu Card) खेलने की कोशिश की है। माता वैष्णो देवी की पैदल यात्रा (Paidal Yatra) को भी राहुल गांधी की इसी मुहिम का हिस्सा माना जा रहा है।

    उन्होंने जम्मू-कश्मीर के साथ अपने पूर्वजों के नजदीकी रिश्ते का हवाला देते हुए भी लोगों का समर्थन और सहानुभूति बटोरने की कोशिश की। उन्होंने खुद को कश्मीरी पंडित बताते हुए भी घाटी के साथ अपने रिश्तों को जोड़ने की कोशिश के साथ ही कांग्रेस की चुनावी संभावनाओं को मजबूत बनाने का प्रयास किया।

    लगातार कमजोर होती जा रही है कांग्रेस

    दरअसल, जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस भाजपा के मुकाबले लगातार कमजोर पड़ती जा रही है। जानकारों का मानना है कि इसी कारण अब कांग्रेस अपनी रणनीति पर नए सिरे से विचार करने पर मजबूर हुई है। 2008 के विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में कांग्रेस ने यहां से 17 सीटों पर जीत हासिल की थी मगर 2014 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की 5 सीटें और घट गईं। वह 12 सीटों पर सिमट गई। विधानसभा के साथ ही लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Election) में भी कांग्रेस का प्रदर्शन (Congress Ka Pradarshan) काफी निराशाजनक रहा। 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस यहां से एक भी सीट नहीं जीत सकी।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News
    Previous newsमनोहर खट्टर के बिगड़े बोल, आंदोलनकारी किसानों की भीड़ में एक खास वर्ग के लोग शामिल
    Next newsसबको वैक्सीन “मुफ्त वैक्सीन” निरंतर लगाई जाएगी : केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here