हिंद-प्रशांत में चीन को घेरने की तैयारी! IAF चीफ की वायु सेना प्रमुखों संग मीटिंग

    0
    0

    IAF Chief RKS Bhadauria Indo Pacific: भारतीय वायु सेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने वायु सेना प्रमुखों के तीन दिवसीय सम्मेलन 2021 में हिस्सा लिया। यह सम्मेलन अमेरिका के हवाई में गुरुवार को संपन्न हुआ। इसकी जानकारी रक्षा मंत्रालय ने दी है। मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि, ‘कार्यक्रम में हिंद-प्रशांत क्षेत्र के वायुसेना प्रमुखों ने हिस्सा लिया, जिसका विषय ‘क्षेत्रीय संतुलन के लिए मजबूत सहयोग’ था’। बताया गया कि सम्मेलन में समूह चर्चा, टेबल टॉप अभ्यास और क्षेत्रीय सुरक्षा और आपदा राहत अभियानों के लिए वायुसेनाओं के बीच सहयोग के मुद्दों पर चर्चा हुई। बताया गया कि भदौरिया को सम्मेलन का डीन बताया गया, जो हवाई के ज्वाइंट बेस पर्ल हार्बर हिकाम में हुआ।

    दुनिया भर में चिंता बढ़ी

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News

    हिंद-प्रशांत में चीन के दबदबे को लेकर दुनिया भर में चिंता बढ़ रही है। इसके लिए भारत, ऑस्ट्रेलिया, जापान और अमेरिका सहित कई अन्य देश हिंद-प्रशांत क्षेत्र की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए काम कर रहे हैं।

    11 अन्य देशों के वायुसेना प्रमुखों के साथ बैठक की

    सिम्पोजियम में हिस्सा लेने के अलावा भदौरिया ने अमेरिकी वायुसेना के जनरल चार्ल्स क्यू ब्राउन और प्रशांत वायु सेना के कमांडर जनरल केनेथ एस. विल्सबाक से मुलाकात की। मंत्रालय ने बताया ‘उन्होंने 11 अन्य देशों के वायुसेना प्रमुखों के साथ रक्षा और सुरक्षा सहयोग पर द्विपक्षीय एवं बहुपक्षीय बैठकें कीं।’

    1971 में जीत विश्व इतिहास की एक महत्वपूर्ण घटना

    बता दें की पिछले महीने दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान भदौरिया ने कहा था कि 1971 युद्ध (भारत-पाकिस्तान युद्ध) में जीत विश्व इतिहास की एक महत्वपूर्ण घटना है। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद ये सबसे बड़ा सैन्य समर्पण था, जिसने पाकिस्तानी सेना की गरिमा को चकनाचूर कर दिया।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News
    Previous newsअगले दो दिन तक कैसा रहेगा मौसम, IMD ने दी जानकारी, एक क्लिक में जानें यहांं
    Next newsदेश के कुछ राज्यों में लगाए गए कोरोना प्रतिबन्ध, जानें क्या होंगे नए नियम
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here