जम्मू कश्मीर में 50% क्षमता के साथ 12वीं कक्षा को फिर से खोलने की इजाजत

श्रीनगर: देश में कोरोनावायरस के संक्रमण का खतरा अभी भी बना हुआ। संक्रमण के मामलों में उतार चढ़ाव का दौर जारी है। कुछ राज्य कोरोना से मुक्ति के ओर हैं, तो कुछ राज्यों में मामले बढ़ते हुए भी देखे जा रहे हैं। जिन राज्यों में संक्रमण के मामले कम हुए हैं, वहां शिक्षण संस्थाओं को फिर से खोला जा रहा है। इसी क्रम में जम्मू कश्मीर सरकार ने भी कुछ शर्तों के साथ स्कूलों को खोले जाने की इजाजत दे दी है।

जानकारी के मुताबिक जम्मू कश्मीर सरकार ने कोरोना का टीका लगवा चुके छात्रों के साथ कक्षा 12 के स्कूलों को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोलने की मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही कोविड टेस्ट के बाद डीसी को कक्षा 10 के स्कूलों को खोलने की अनुमति देने के लिए कहा है। प्रतियोगी परीक्षार्थियों को राहत देते हुए कुछ शर्तों के साथ सिविल सेवा, जेईई, एनईईटी के कोचिंग सेंटरों को भी खोलने की इजाजत दे दी है। बता दें कि जम्मू कश्मीर में शनिवार को कोरोनावायरस संक्रमण के 116 मामले आए थे। इसके साथ ही राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,25,830 पहुंच गई है। वहीं एक मरीज की मौत भी हुई है।

राज्य में महामारी से मरने वालों की संख्या 4,410 पर पहुंच गई है। शनिवार को आए नए मामलों में 85 कश्मीर संभाग और 31 मामले जम्मू संभाग से आए हैं। गौरतलब है कि हाल के दिनों में कोरोना संक्रमण के मामले में इजाफा होता दिख रहा है। इससे कोरोना के तीसरी लहर की आशंका जाहिर की जाने लगी है। कुछ राज्यों ने नाइट कोरोना कर्फ्यू को लागू कर दिया है। वहीं बाहर से आने वाले यात्रियों की बिना जांच के राज्य में प्रवेश को वर्जित कर दिया गया है। फिलहाल कुछ शर्तों के साथ सबकुछ एकबार फिर से पटरी पर लौटने लगी है। उम्मीद की जा रही है इस वर्ष छात्रों की पढ़ाई सुचारु रूप से चल सकेगी।

Leave a Comment