महबूबा मुफ्ती ने केंद्र पर लगाया नजरबंद करने का आरोप, बोलीं- Jammu Kashmir में सामान्य स्थिति होने के दावों की खुली पोल

Jammu and Kashmir: जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री एवं पीडीपी मुखिया महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने मंगलवार को दावा किया है कि उन्हें ‘घर में नजरबंद’ किया गया है। इस मामले में उन्होंने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा है। उन्होंने केंद्र सरकार के राज्य में स्थिति सामान्य होने के दावों को फर्जी करार दिया। दरअसल, महबूबा मुफ्ती आज अपने शेर-ए-कश्मीर स्थिति अपने पार्टी मुख्यालय का दौरा करने वाली थीं।

महबूबा मुफ्ती ने किया ट्वीट

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने प्रशासन पर आरोप लगाया है कि श्रीनगर स्थित उनके घर में उनको नजरबंद किया गया है। इस मामले में महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट भी किया है। उन्होंने लिखा, ”भारत सरकार अफगानी लोगों के अधिकारों के लिए चिंता व्यक्त करती है, लेकिन जानबूझकर इन्हीं अधिकारों से कश्मीरियों को वंचित करती है। मुझे आज नजरबंद किया गया है क्योंकि प्रशासन के अनुसार कश्मीर में स्थिति सामान्य नहीं है। यह सामान्य स्थिति बताने के उनके दावों की पोल खोलता है।”

गौरतलब है कि अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी की मौत के बाद लगाए गए प्रतिबंधों में अब ढील दी गई है। जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu and Kashmir Police) ने कहा है कि इंटरनेट सहित अधिकांश प्रतिबंधों में ढील दी गई है। कश्मीर और जम्मू दोनों संभागों में स्थिति पूरी तरह से सामान्य है, लेकिन सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए हैं।

आपको बता दें कि महबूबा मुफ्ती का ट्वीट अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के निधन के बाद घाटी में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने के बाद आया है। पीडीपी मुखिया ने कहा था कि अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के परिवार को अंतिम संस्कार से वंचित करना मानवता के खिलाफ है और इससे जम्मू-कश्मीर के लोगों को दुख हुआ है। गिलानी के शव को उनके आवास के पास एक मस्जिद परिसर में स्थित कब्रिस्तान में दफनाया गया था।

 

Leave a Comment