JEE-NEET : जानें- कैसे तैयार हो रहे हैं परीक्षा सेंटर, इन बातों का रखा जा रहा है खास ध्यान

    0

    New Delhi/Atulya Loktantra : छात्रों और राजनीतिक पार्ट‍ियों के तमाम व‍िरोध के बीच नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने JEE और NEET के आयोजन की तैयारियां तेज कर दी हैं. बुधवार रात एनटीए ने JEE-NEET के प्रवेश पत्र जारी कर दिए. जिसे सुबह तक करीब 23 लाख में से 14 लाख उम्मीदवार डाउनलोड कर चुके हैं. वहीं NTA ने परीक्षा स्थगित करने के लिए साफ मना कर दिया है. ऐसे में जानते हैं परीक्षा सेंटर में कैसे तैयारी चल रही है.

    बता दें कि JEE परीक्षा 1 सितंबर से 6 सितंबर तक आयोजित की जानी है. वहीं नीट परीक्षा 13 सितंबर को आयोजित की जाएगी. ऐसे में अब परीक्षा के आयोजन में कुछ ही दिन बाकी रह गए हैं. कोरोना महामारी के बीच JEE और NEET परीक्षा को पूरी तरह टच फ्री कराने के कई बातों का ध्यान रखा जा रहा है.

    – परीक्षा केंद्र में मास्क और थर्मल स्क्रीनिंग का खास ध्यान रखा जा रहा है. सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए परीक्षार्थियों को दूर-दूर बैठाया जाएगा. पहले एक कमरे में 25 परीक्षार्थी बैठते थे. अब 12 को बैठाया जाएगा. बता दें, परीक्षा का समय 2 से 5 बजे तक होगी.

    पहले ही शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा था, कि हमारे लिए सबसे ज्यादा जरूरी छात्रों की सुरक्षा है. ऐसे में परीक्षा केंद्र, उम्मीदवारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी सावधानी बरत रहे हैं.

    एक अधिकारी ने कहा, “हमारा प्राथमिक उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि छात्र स्कूल के अंदर एक बार सुरक्षित महसूस करें. 25 अगस्त को एनटीए से प्रोटोकॉल प्राप्त होने के बाद, हमने परिसर को साफ करने की तैयारी शुरू कर दी. सभी कोविड -19 सुरक्षा और सुरक्षा मानदंडों का पालन किया जा रहा है.

    हमारे सभी स्टाफ और संसाधनों का इस संबंध में उपयोग किया गया है और हम उम्मीदवारों की परीक्षा कराने के लिए तैयार हैं. प्रवेश द्वार पर, उम्मीदवार शरीर के तापमान के लिए थर्मल स्कैन से चेक किया जाएगा. फिर हैंड सेनिटाइजर दिया जाएगा इसके बाद छात्रों को ग्लव्स और मास्क दिए जाएंगे. एक कक्षा में नियमित 40 छात्रों के बजाय, केवल 12 उम्मीदवारों को एक कक्षा में बैठने की अनुमति होगी.

    परीक्षा केंद्र में प्रवेश करते समय, उम्मीदवारों को एक दूसरे से कम से कम 6 फीट की दूरी पर बैठाया जाएगा. इसी के साथ परीक्षकों की कक्षा में घूमने की प्रक्रिया को कम से कम रखा जाएगा.

    इन बातों का रखा जाएगा खास ध्यान

    1- मास्क पहनना जरूरी होगा

    2- हाथों में पहनने होंगे दस्ताने

    3- पारदर्शी पानी की बोतल

    4- 50 ml का हैंड सैनिटाइजर

    5- परीक्षा से संबंधित डॉक्यूमेंट्स (जैसे- एडमिट कार्ड, ID कार्ट और अन्य जरूरी डॉक्यूमेंट्स)

    6- नकल रोकने के लिए मेटल डिटेक्टर से छात्रों की जांच होगी

    7. किसी भी प्रकार की धातु आदि से बने प्रोडक्ट को अपने साथ न लाएं

    8- मेटल डिटेक्टर दूर से जांच करेगा, इस दौरान छात्र के सीधे संपर्क में कोई नहीं होगा

    9- शौचायल जाने से पहले उन्हें अनुमति लेनी जरूरी होगी.

    10- परीक्षा हॉल में करीब 3 फुट चौड़ी टेबल उपलब्ध कराई जाएगी. परीक्षक बिना किसी को छुए उम्मीदवारों के डॉक्यूमेंट्स चेक करेंगे. सिग्नेचर के साथ मैनुअल अटेंडेंस (हाथो में दस्ताने पहनकर) ली जाएगी.

    अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

    Please enter your comment!
    Please enter your name here