‘रसायन विज्ञान के क्षेत्र में नई प्रगति‘ विषय पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन संपन्न

    0
    11

    फरीदाबाद, 17 जुलाई (हि.स.)। जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के रसायन विज्ञान विभाग द्वारा ‘रसायन विज्ञान के क्षेत्र में नई प्रगति‘ विषय पर आयोजित तीन दिवसीय आनलाइन अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन संपन्न हो गया। सम्मेलन में भारत और विदेशों से लगभग 150 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। सम्मेलन के समापन सत्र में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरुक्षेत्र के प्रो. ओम प्रकाश अरोड़ा मुख्य अतिथि थे। सत्र की अध्यक्षता कुलपति दिनेश कुमार ने की। इस अवसर पर कुलसचिव डॉ. एस.के. गर्ग भी उपस्थित थे। इस अवसर पर बोलते हुए प्रो. ओपी अरोड़ा ने व्यावहारिक रसायन विज्ञान के महत्व पर प्रकाश डाला और महामारी के दौरान प्रायोगिक अध्ययन न हो पाने पर चिंता जताई। इससे पहले विज्ञान संकाय के डीन प्रो आशुतोष दीक्षित ने अतिथियों एवं गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया। रसायन विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डॉ. रवि कुमार ने सम्मेलन का संक्षिप्त सारांश प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि दुनिया भर के विभिन्न युवा शोधकर्ताओं ने सम्मेलन में भाग लिया और मौखिक एवं ई-पोस्टर के रूप में अपना शोध कार्य प्रस्तुत किया। सम्मेलन के पहले दो दिनों में ई-पोस्टर और मौखिक प्रस्तुतियों के समानांतर सत्र आयोजित किये गये थे। सम्मेलन के दौरान शोधकर्ताओं द्वारा लगभग 16 चयनित मौखिक प्रस्तुतियाँ और 144 ई-पोस्टर प्रस्तुत किए गए। सम्मेलन में इजराइल, यूएसए, यूके और जापान प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। तकनीकी सत्रों में दुनिया भर के वक्ताओं के व्याख्यान आयोजित किये गये, जिसमें कार्डिफ यूनिवर्सिटी, यूके से प्रो. थॉमस विर्थ, यूएसए के डॉ. पवन कुमार, टेक्सास टेक यूनिवर्सिटी, यूएसए से प्रो. एंथनी कोजोलिनो और प्रो. एंथनी कोजोलिनो प्रमुख रहे। पंजाब यूनिवर्सिटी , चंडीगढ़ प्रो. एसके मेहता, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से डॉ मोहम्मद पलाशुद्दीन, बीआर अंबेडकर विश्वविद्यालय से डॉ सलीम जावेद, आईआईटी कानपुर से प्रो. आरएन मुखर्जी, सीएसआईआर-सीएसएमसीआरआई से डॉ अरविंद कुमार, आईआईटी तिरुपति से प्रो सीपी राव और आईआईटी कानपुर से प्रो. प्रतीक सेन और कुलसचिव डॉ. सुनील कुमार गर्ग ने भी संबोधित किया। सत्र के अंत में डॉ. अमित राजपूत के धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

    Previous newsचौकी प्रभारी ने तकनीकी सहयोग से अध्यापिका का मोबाईल ढ़ूँढकर लौटाया
    Next newsस्नातक की परीक्षाएं कब, विवि में एडमिशन की लास्ट डेट, शैक्षिणिक कैलेंडर 2021-22 जारी
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here