विकास दुबे के ओयो होटल में छिपे होने की मिली थी सूचना, पुलिस की घेराबंदी से पहले फरार

    0

    Faridabad/Atulya Loktantra : उत्तर प्रदेश कानपुर मुझभेड़ के मामले में पुलिस ने फरीदाबाद से दो लोगों को हिरासत में लिया है। बता दें कि इस घटना में आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे।

    मालूम हो कि कानपुर के बिकरू गांव में यूपी पुलिस के डीएसपी समेत आठ कमिर्यों की हत्या करने वाला ढाई लाख रुपये का इनामी बदमाश विकास दुबे मंगलवार को पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था। राष्ट्रीय राजमार्ग बड़खल चौक स्थित श्रीसासाराम ओयो गेस्ट हाउस में विकास और उसके गुर्गों के छिपे होने की सूचना मिली थी। क्राइम ब्रांच की टीम ने सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगाली, जिसमें विकास दुबे जैसे दिखने वाले एक शख्स की फुटेज भी पुलिस ने कब्जे में ली है।

    सूत्रों के मुताबिक यूपी एसटीएफ ने विकास की तलाश में गुरुग्राम और उसके साथ लगने राजस्थान के इलाकों में भी छापे मारे और नाकेबंदी करवाई। मामला हाई प्रोफाइल होने के कारण कोई भी पुलिस अधिकारी इस बारे में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। क्राइम ब्रांच की टीम ने मंगलवार शाम श्रीसासाराम ओयो गेस्ट हाउस की घेराबंदी की। लेकिन सूत्रों के मुताबिक पुलिस के पहुंचने से पहले ही विकास दुबे गुर्गों समेत फरार हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक वहां गोली चलने की आवाज भी लोगों ने सुनी। पुलिस ने इस पूरे मामले में फिलहाल चुप्पी साध रखी है।

    फरीदाबाद पुलिस को उत्तर प्रदेश पुलिस से राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित ओयो होटल में विकास दुबे के अपने गुर्गों के साथ छिपे होने की सूचना मिली थी। इस पर क्राइम ब्रांच की टीम ने चौक पर बीकानेर स्वीट्स के ऊपर श्रीसासाराम ओयो होटल की घेराबंदी कर ली। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार 25 से 30 पुलिसकर्मी हथियारों के साथ चौक पर पहुंचे। पुलिस ने छानबीन शुरू की लेकिन विकास दुबे का कोई सुराग नहीं मिला। एक ऑटो चालक ने बताया कि उन्होंने ओयो होटल से गोली चलने की आवाज सुनी थी।

    बड़खल मोड़ के पास स्थित ओयो गेस्ट रूम में कुछ बदमाशों के छिपे होने की खबर मिली थी। क्राइम ब्रांच-30 के साथ ही अन्य पुलिसबल के साथ होटल की घेराबंदी की गई और सर्च अभियान चलाया गया। हालांकि वहां कुछ नहीं मिला। जिन संदिग्धों की सूचना मिली थी, वह पहले ही जा चुके थे। फिलहाल होटल के रिकॉर्ड और सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है।
    – सूबे सिंह, पुलिस प्रवक्ता

    अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

    Please enter your comment!
    Please enter your name here