भारत ने तालिबान सरकार को बताया महज एक व्यवस्था, इससे ज्यादा कुछ नहीं

    0
    0

    Afghanistan Taliban New Government : अफगानिस्तान में तालिबान की नई सरकार को भारत ने मानने से मना कर दिया है। भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शनिवार को इस बात का एलान कर दिया कि वे तालिबान की नई सरकार को एक व्यवस्था (‘डिस्पेंसेशन’) से अधिक कुछ नहीं समझते हैं। इस व्यवस्था में भी सभी वर्गों के शामिल ना होने से परेशान है। साथ ही भारत को अफगानिस्तान में महिलाओं और अल्पसंख्यकों के बदहाल स्थिति पर चिंता जाहिर की है।

    तालिबान की नई सरकार के बारे में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि भारत चाहता है कि अफगानिस्तान की धरती को आतंकवाद के लिए इस्तेमाल ना किया जाए। इसको लेकर भारत ने ऑस्ट्रेलिया से संयुक्त राष्ट्र के 2593 विधेयक को लागू करने को लेकर चर्चा की है। इस विधेयक के तहत किसी भी देश को आतंकवाद को बढ़ावा देने से रोकने पर जो दिया जाता है।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News

    महिलाओं-अल्पसंख्यकों की स्थिति चिंताजनक

    दरअसल शनिवार को दो देशों भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टू प्लस टू मीटिंग हुई। इसके बाद विदेश मंत्री मीडिया कॉन्फ्रेंस की। जिसमें देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री मेरी पायने और रक्षा मंत्री पीटर ड्यूटन भी उपस्थित थे।

    जिसमें एस जयशंकर ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के साथ टू प्लस टू मीटिंग में अफगानिस्तान में डिंस्पेनशेसन (व्यवस्था) के इनक्लुसिवनेस यानि समावेशीकरण और महिलाओ-अल्पसंख्यकों के हालात पर चर्चा हुई।

    वहीं ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री मेरी पायने ने कहा कि अफगानिस्तान की धरती को आतंकियों की पैदावर के लिए इस्तेमाल नहीं होना चाहिए। अफगानिस्तान में मानवधिकारों का हनन नहीं होना चाहिए।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News
    Previous newsदुनियाभर में कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी, बढ़ते आंकड़ों की सबसे बड़ी वजह सरकार की ढिलाई
    Next newsअगले 3 दिन का मौसम का हाल, IMD ने जारी किया अलर्ट, जानें अपने राज्य का मौसम
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here