दुनियाभर में कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी, बढ़ते आंकड़ों की सबसे बड़ी वजह सरकार की ढिलाई

    0
    0

    Coronavirus : दो साल पहले चीन से फैली कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया में अभी तक कहर ढाया हुआ है। इस महामारी से विश्व में अबतक 22.47 करोड़ लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। जबकि 46.33 लाख से ज्यादा की इस महामारी ने जान ले ली है। राहत की बात तो ये कि दुनिया में 5.64 अरब से ज्यादा लोगों का वैक्सीनेशन अबतक हो चुका है। ऐसे में भारत में कोरोना ( Coronavirus ) से होने मौत को लेकर सरकार ने नया फैसला सुनाया है। सरकार ने कहा है कि कोविड-19 पॉजिटिव होने के 30 दिन के अंदर किसी की मौत हॉस्पिटल या घर में हो जाती है तो डेथ सर्टिफिकेट पर मौत की वजह कोविड-19 ही बताई जाएगी।

    भारत में कोरोना को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय और इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने 3 सितंबर को नई गाइडलाइन जारी की। जिसके अनुसार, अब सरकार ने कोविड-19 से होने वाली मौतों के लिए सर्कुलर जारी किया है। इसमें कोरोना की पुष्टि होने के बाद अगर कोई मरीज हॉस्पिटल से डिस्चार्ज भी हो जाए, तो भी टेस्ट के 30 दिनों के भीतर बाहर मौत होने पर कोविड डेथ माना जाएगा।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News

    दुनिया में बढ़ रहे कोरोना मामलों को लेकर जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी ने पुष्टि की है कि मौजूदा समय में बढ़ते मामलों का एक बड़ा कारण वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर सरकारों की ढिलाई भी है।

    इस बारे में शनिवार सुबह अपने नए अपडेट में, यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने जानकारी दी कि वर्तमान वैश्विक मामले और मृतक संख्या लगातार बढ़ रहे हैं। लेकिन टीकाकरण को लेकर भी लोगों में सक्रियता दिखाई दे रही है।

    ऐसे में न्यूजीलैंड ने कोरोना के आकड़ों पर नजर डालते हुए शनिवार को कहा कि बीते 24 घंटों में देश में 23 नए कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं। ऐसे में 23 मामले आने से कीवी देश के कोरोना संक्रमण को पूरी तरह से खत्म करने के प्रयासों को बड़ा धक्का लगा है। बताया जा रहा है कि ये सारे मामले ऑकलैंड से आए हैं।

    दुनिया को तबाही की तरफ ले जाने वाले चीन में कोरोना संक्रमण के 25 नए मामले मिले है। वहीं इससे पहले यहां पर 17 मामले दर्ज किए गए थे। बढ़ते मामलों के बारे में बताया गया कि सिर्फ एक मामला स्थानीय रहा और बाकी संक्रमण के मामले बाहर से आए लोगों में रिपोर्ट हुए। जबकि ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में भी तेजी से मामले बढ़े हैं। शनिवार को यहां लॉकडाउन का अलर्ट जारी किया गया है।

     

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News
    Previous newsवैष्णोदेवी मंदिर में धूमधाम से की गई श्री गणपति उत्सव की धूम आरंभ
    Next newsभारत ने तालिबान सरकार को बताया महज एक व्यवस्था, इससे ज्यादा कुछ नहीं
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here