प्रदर्शनों की आग में देश को झुलसता छोड़ क्रिकेट मैच देखने गए पाक गृह मंत्री को इमरान ने बुलाया

इस्लामाबाद: हमारे पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान (Pakistan) में आलम यह है कि एक तरफ देश इन दिनों प्रतिबंधित धार्मिक कट्टरपंथी ‘तहरीक ए लब्बैक पाकिस्तान’ (Tehreek-e-Labbaik Pakistan) यानी टीएलपी (TLP) के प्रदर्शनों (Protest) से जल रहा है। तमाम तरह की अव्यवस्थाएं हैं। तो दूसरी, तरफ इन सबसे बेपरवाह पाकिस्तान के गृह मंत्री (Home minsiter) भारत-पाकिस्तान (india pakistan match) का मैच देखने संयुक्त अरब अमीरात पहुंच गए थे। हालांकि, इस सन्दर्भ में उन्होंने बताया था कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (pm imran Khan) ने मैच देखने के लिए उनकी दो दिनों की छुट्टी मंजूर की थी।

बता दें, कि हाल ही में लाहौर में तहरीक ए लब्बैक पाकिस्तान (Pakistan) के समर्थकों का प्रदर्शन के दौरान तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो चुकी है, जबकि कई अन्य लोग घायल हैं। देश के अन्य हिस्सों में इस तरह के प्रदर्शन आए दिन हो रहे हैं। इस बीच पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख रशीद (home Minister Sheikh Rashid) देश की कानून-व्यवस्था को संभालने के बजाय भारत-पाकिस्तान का टी-20 मैच देखने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) पहुंच गए थे। हालांकि, सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी उनके मंत्रालय की है, जिसे संभालने के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान (pm Imran Khan) ने उन्हें देश लौटने को कहा। शेख रशीद शनिवार (23 अक्टूबर) को पाकिस्तान (Pakistan) लौट आए हैं।

देश जल रहा, गृहमंत्री मैच में मगन

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान(Pakistan today match) में इन दिनों विपक्षी दलों तथा प्रतिबंधित संगठनों का देश के विभिन्न हिस्सों में प्रदर्शन जारी है। इस्लामाबाद, लाहौर और रावलपिंडी सहित कई ने हिस्से को बंद कर दिया गया है। रविवार (24 अक्टूबर) को भारत-पाकिस्तान के बीच होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप मैच देखने के लिए शेख रशीद यूएई पहुंचे थे। कुछ दिनों पहले शेख रशीद ने मीडिया को बताया था कि भारत-पाक के बीच होने वाले लाइव मैच को देखने के लिए इमरान खान ने उनकी दो दिनों की छुट्टी को मंजूर कर ली है।

शारजाह से लौटे शेख रशीद

हालांकि इमरान खान (Imran khan) के बुलावे के बाद अब शेख रशीद पाकिस्तान (pakistan) की मौजूदा स्थिति संभालने के लिए वापस देश लौट चुके हैं। शनिवार की सुबह वो शारजाह से इस्लामाबाद (Islamabad) वापस लौट गए। लाहौर हिंसा के बारे में पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि उस उपद्रव में कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पेट्रोल बम (Petrol bum) भी फेंके थे। अधिकारियों ने जब उन्हें सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से रोकने की कोशिश की, तब वे और उग्र हो गए। कई जगहों पर आगजनी भी की।

साद हुसैन रिजवी की रिहाई की मांग

लाहौर हिंसा (Lahore hinsa) के दौरान भीड़ ने लाठियों का भी इस्तेमाल किया था। पथराव करते हुए उपद्रवियों के एक पुलिस चौकी पर हमला बोल दिया। जिसके जवाब में पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। याद रहे, कि टीएलपी (TlP) ने अप्रैल महीने में पूरे पाकिस्तान (Pakistan india match) को कई दिनों तक हिंसा की आग में जलाए रखा था। उसके बाद पाक सरकार ने मज़बूरी में टीएलपी पर प्रतिबंध लगा दिया था। टीएलपी समर्थक वर्तमान में अपने मुखिया साद हुसैन रिजवी की रिहाई की मांग कर रहे हैं। साद हुसैन रिजवी को पंजाब सरकार (Punjab government) ने 12 अप्रैल को हिंसा भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया था। तभी से वह पुलिस हिरासत में हैं।

Leave a Comment