लाल किले में हिंसा को लेकर एक्शन में गृह मंत्रालय, सख्त कार्रवाई के दिए निर्देश

0

New Delhi/Atulya Loktantra: गणतंत्र दिवस (Republic Day) के मौके पर ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) के नाम पर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में प्रदर्शनकारी किसानों ने जमकर हुड़दंग मचाया और हिंसा को अंजाम दिया. कृषि कानूनों (Agriculture Laws) का विरोध कर रहे किसानों का एक समूह ट्रैक्टरों के साथ लाल किला पहुंच गया और उस स्तंभ पर एक धार्मिक झंडा लगा दिया, जहां 15 अगस्त को प्रधानमंत्री भारत का तिरंगा फहराते हैं.

– लाल किले पर उपद्रव की घटना को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय बेहद गंभीर है और पुलिस अधिकारियों को उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं. इसके साथ ही घटना में घायल पुलिसकर्मियों को बेहतर इलाज मुहैया करवाने के आदेश दिए गए हैं. रिपोर्ट के अनुसार, मंगलवार शाम से लेकर अब तक दिल्ली पुलिस ने गृह मंत्रालय को जो इनपुट दिया है, उसके मुताबिक अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती का काम हिंसा ग्रस्त इलाकों में पूरा किया गया. हिंसा वाले इलाकों में फिलहाल हालात काबू में हैं. गृह मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार जरूरत पड़ने पर और भी पैरामिलिट्री फोर्स तैनात की जाएगी.

– दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने बताया कि किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा (Farmers Violence) के सिलसिले में अब तक 22 एफआईआर (FIR) दर्ज किए गए हैं.

– दिल्ली में हिंसा के बाद कुछ खालिस्तान समर्थक ट्विटर अकाउंट (Pro-Khalistan Twitter Account) ससपेंड किए गए हैं. रिपोर्ट के अनुसार इन अकाउंट्स से भारत विरोधी एजेंडा चलाया जा रहा था. इन अकाउंट्स को कनाडा और यूके से चलाए जा रहे थे.

– दिल्ली पुलिस अब जगह-जगह लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज निकालकर प्रदर्शनकारियों की पहचान करने में जुटी है. लालकिले, नांगलोई, मुकरबा चौक, सेंट्रल दिल्ली में सीसीटीवी कैमरों से फुटेज निकालने के लिए स्पेशल सेल, क्राइम ब्रांच की मदद भी ली जा रही है.

– भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर आरोप लगाया और कहा कि हिंसा केंद्र व यूपी सरकार की नाकामी है. किसानों को प्लान बनाकर चक्रव्यूह में फंसाया गया. उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन अभी जारी रहेगा और सरकार बातचीत करेगी तो हम बातचीत करेंगे.

– दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) ने बताया है कि सुरक्षा के लिहाज से लाल किला मेट्रो स्टेशन पर निकास और प्रवेश द्वार बंद हैं, जबकि जामा मस्जिद स्टेशन पर एंट्री बंद है, हालांकि यहां स्टेशन से बाहर निकलने की अनुमति है. इसके अलावा दिल्ली मेट्रो के अन्य सभी स्टेशन खुले हैं और सभी लाइनों पर सामान्य सेवाएं चल रही हैं.

– दिल्ली हिंसा मामले में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने आज (बुधवार) को उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है. गृह सचिव और IB के निदेशक भी बैठक में मौजूद रहेंगे. गृह मंत्री अमित शाह आज (बुधवार) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) से भी मुलाकात कर सकते हैं. मंगलवार को हुई गृह मंत्रालय की बैठक में दिल्ली में पैरा मिलिट्री फोर्स की 15 अतिरिक्त कंपनियां तैनात करने का फैसला किया गया था.

– 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) के दौरान दिल्ली में हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है और अलग-अलग जिलों में अब तक कुल 15 मामले दर्ज (15 FIR) किए गए हैं, जिसमें से ईस्टर्न रेंज में कुल 5, नजफगढ़, हरिदास नगर, उत्तम नगर में एक-एक एफआईआर (FIR) दर्ज की गई हैं. अज्ञात लोगों के खिलाफ अलग अलग धाराओं में एफआईआर दर्ज हुई है. आरोपियों की पहचान का काम जारी है और पुलिस हिंसा के वीडियो फुटेज की मदद ले रही है. (इनपुट- राजू राज)

– दिल्ली में हुई हिंसा के बाद संयुक्त किसान मोर्चा की आज (बुधवार) दोपहर 2 बजे बैठक होगी. बैठक में 26 जनवरी को हुई हिंसा पर की चर्चा की जाएगी और 1 फरवरी के संसद घेराव कार्यक्रम पर भी फैसला लिया जाएगा.

– दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने बताया है कि लाल किला मेट्रो स्टेशन पर प्रवेश द्वार बंद हैं, हालांकि इस स्टेशन से बाहर निकलने की अनुमति है. दिल्ली मेट्रो के अन्य सभी स्टेशन खुले हैं और सभी लाइनों पर सामान्य सेवाएं चल रही हैं.

– अगर आप दिल्ली से गाजियाबाद या फिर गाजियाबाद से दिल्ली जाना चाहते है तो जरा संभलकर निकलें. एनएच 9 और एनएच 24 को सुरक्षा के लिहाज से बंद कर दिया गया है और इस हाईवे का प्रयोग करने वाले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. गाजियाबाद से दिल्ली जाने के लिए आनंद विहार होते हुए जा सकते है.

– दिल्ली हिंसा की वजह से मंगलवार को कई घंटों तक दिल्ली में इंटरनेट सेवा बंद रही. वहीं कुछ हिस्सों में इंटरनेट सर्विस अब भी बाधित हैं. वहीं दिल्ली से लगे हरियाणा के कई जिलों में आज शाम 5 बजे तक इंटरनेट बंद रखने का फैसला किया गया है. अफवाहों पर लगाम लगाने के लिए इंटरनेट सर्विस को बंद किया गया है.