हिन्दी छा गई इंटरनेट पर, बढ़ते ही जा रहे हैं इस भाषा में सर्च करने वाले

    0
    0

    Hindi Diwas 2021: आज हिन्दी दिवस (Hindi Diwas) है। 14 सितंबर को हिन्दी दिवस इसलिए मनाया जाता है क्योंकि संविधान सभा ने इसी दिन हिन्दी को भारत की आधिकारिक भाषा के रूप में स्वीकार किया था। लेकिन क्या आपको पता है कि इंटरनेट और सूचना क्रांति आने के बाद हिन्दी विश्व की सबसे तेजी से आगे बढ़ती भाषाओं में से एक है। इंटरनेट वर्ल्ड में या गूगल जैसे सर्च इंजनों में भारतीय उपभोक्ताओं ने अंग्रेजी को पछाड़ दिया है। जी हां सचाई यही है।

    2018 में एक सर्वेक्षण में इस बात का खुलासा हुआ था कि इंटरनेट की दुनिया में भारतीय उपभोक्ताओं ने अंग्रेजी को पछाड़ दिया है। इसमें सबसे बेहतरीन काम गूगल (Google) के टूल ने किया । जिसने लोगों को हिन्दी में सर्च करने में मदद की। आज स्थिति यह है कि गांव या सुदूरवर्ती कोई ऐसा क्षेत्र नहीं बचा है जहां से हिन्दी में बोलकर या लिखकर गूगल पर सेकंड्स में मनचाही सामग्री न पाई जा सके।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News

    एक अध्ययन में कहा गया है कि 90 फीसदी भारतीय अपनी स्थानीय भाषा में इंटरनेट सर्च करना पसंद करते हैं। गूगल्स ईयर सर्च 2020 की रिपोर्ट बताती है कि गूगल सर्च में अनुवाद में 50 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। रिपोर्ट यह भी कहती है कि न केवल सर्च बल्कि तुलना करने या कोट्स के लिए भी गूगल पर सर्च में बढ़ोतरी हुई है।

    स्मार्ट फोन के जरिये हिन्दी में खोज

    गूगल का यह भी दावा है कि भारत की 2011 की जनगणना के मुताबिक 44 फीसदी हिन्दी भाषी जनता में अधिकांश लोग अपने स्मार्ट फोन (Smartphone) के जरिये हिन्दी में खोज को पसंद करते हैं। भारत से 70 फीसदी हिन्दी में खोज की जा रही है। मजे की बात यह है कि हिन्दी में इंटरनेट की दुनिया में सर्च करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है जिसके 2021 में 75 फीसदी हो जाने का अनुमान है।

    ओटीटी प्लेटफार्मस (OTT Platform) , सोशल मीडिया (Social Media) और वेब सीरीज (Web Series) के अलावा कोरोना काल में बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई (online study) के चलते गूगल पर हिन्दी में खोज करने वालों की संख्या सबसे तेज हो चुकी है। हिन्दी में खाने की चीजों की खोज में 237 प्रतिशत की ग्रोथ है। हिन्दी में चार चीजें खासतौर पर सर्च की जा रही हैं जिसमें यूट्यूब, वीडियो, भोजपुरी गाना और मोटू पतलू शामिल हैं। बाइक कौन सी लें इस खोज में भी जबर्दस्त बढ़ोतरी है।

    हिन्दी भाषियों के एक नए युग में प्रवेश

    वायस सर्च में 270 फीसदी की ग्रोथ है। भारत में जहां 125 मिलियन अंग्रेजी भाषी बताए जाते हैं इनमें 0.3 फीसदी ही अंग्रेजी में सर्च करते हैं। बाकी अपनी क्षेत्रीय भाषाओं में खोज करते हैं। इस तरह गूगल पर हिन्दी में खोज का बढ़ना भारत के हिन्दी भाषियों और कंपनियों के एक नए युग में प्रवेश की दस्तक है।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News
    Previous newsममता का भवानीपुर जहां भरे पड़े हैं गुजराती, मारवाड़ी और पंजाबी
    Next newsकमजोर हो रही एंटीबॉडी, भारत में कोरोना वैक्सीन का बूस्टर देने की जरूरत
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here