हरियाणा की पहली महिला डीसी केशनी अरोड़ा आज मुख्य सचिव पद से होंगी रिटायर

    0

    Chandigarh/Atulya Loktantra: प्रदेश की पहली महिला डीसी बनने वाली केशनी आनंद अरोड़ा बुधवार को चीफ सेक्रेट्री के पद से रिटायर होंगी। पिछले साल 30 जून को डीएस ढेसी के रिटायरमेंट के बाद उन्होंने कार्यभार संभाला था। उनकी दो बड़ी बहनें मीनाक्षी आनंद चौधरी व उर्वशी गुलाटी भी मुख्य सचिव पद से ही रिटायर हुई थीं। संभवत: यह देश का पहला मामला है, जिसमें तीन बहनें किसी प्रदेश के मुख्य सचिव के पद तक पहुंचीं।

    तीनों बहनों ने पॉलिटिकल साइंस में पोस्ट ग्रेजुएट की। इनके पिता डॉ. जेसी आनंद पंजाब यूनिवर्सिटी में पॉलिटिकटल साइंस के टीचर थे। मुख्य सचिव की बेटी श्रुति आईपीएस हैं। अरोड़ा को रिटायर होने पर पिछले डेढ़ साल से खाली राइट-टू-सर्विस कमीशन के चीफ कमिश्नर का पद मिल सकता है, क्योंकि इस पद के लिए एक पखवाड़े से ही प्रक्रिया शुरू की गई है और इसके लिए मुख्य सचिव स्तर के रिटायर अधिकारी की शर्त लगाई है। उनकी बड़ी बहनों को भी रिटायरमेंट के बाद इन्फॉर्मेशन कमीशन में पद मिले थे।

    इधर, उनके रिटायर होने पर 1985 बैच के सीनियर आईएएस विजय वर्धन का मुख्य सचिव बनना तय है। अमूमन प्रदेश में एफसीआर (फाइनेंशियल कमिश्नर रेवेन्यू) को ही सीएस की जिम्मेदारी दी जाती है। हालांकि, वर्धन से सीनियर 1984 बैच के आईएएस सुनील गुलाटी भी हैं, लेकिन उन्हें पहले ही किनारे लगाया हुआ है। उन्हें अरोड़ा के सीएस बनने के बाद एफसीआर भी नहीं लगाया था। वर्धन के सीएस बनने पर हाेम सेक्रेट्री व एफसीआर के पद पर किसी सीनियर आईएएस को लगाया जाएगा। एग्रीकल्चर विभाग के एसीएस संजीव कौशल को एफसीआर बनाया जा सकता है।

    ऐसे हुई केशनी अरोड़ा की सर्विस की शुरुआत
    1983 बैच की आईएएस केशनी आनंद अरोड़ा की पहली पोस्टिंग प्रिंटिंग एंड स्टेशनरी डिपार्टमेंट के कंट्रोलर के पद पर हुई थी। 1990 में वे यमुनानगर की डीसी बनी। वह हरियाणा में पहली महिला आईएएस थी, जिसे किसी जिले में डीसी लगाया गया था। इसके अलावा वे हरियाणा की 5वीं महिला आईएएस हैं, जो सीएस के पद तक पहुंचीं। केशनी अरोड़ा ने कहा कि वे अपने कार्यकाल से संतुष्ट हैं।

    आईटी पर फोकस, एफसीआर रहते एक साल में 33% बढ़ाया रेवन्यू
    केशनी आनंद अरोड़ा ने हरियाणा के प्रशासनिक सुधार के लिए आईटी पर सबसे ज्यादा फोकस किया। एफसीआर रहते हुए रेवेन्यू 33% तक बढ़ाया। 2005 से 2019 तक एक इंटरनेशनल, सात नेशनल और दो स्टेट अवॉर्ड शामिल हैं।

    डीजी रैंक से आज रिटायर होंगे पीआर देव
    हरियाणा पुलिस के 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी प्रभात रंजन देव भी बुधवार को रिटायर होंगे। वे फिलहाल डीजीपी रैंक में हैं। पिछले नौ माह से कमांडेंट जनरल, सिविल डिफेंस व होम गार्ड के पद पर तैनात है।

    अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

    Please enter your comment!
    Please enter your name here