Gurugram Namaz Controversy: हरियाणा के गुरुग्राम में इन 8 जगहों पर खुले में नमाज पढ़ने पर लगी रोक, दिवाली में पटाखों पर भी पूर्ण प्रतिबंध

Gurugram Namaz Controversy: हरियाणा के गुरुग्राम जिले में एक खास वर्ग के खुले में नमाज पढ़ने को लेकर शुरू हुआ विवाद अब समाप्त होता नजर आ रहा है। बता दें कि विवाद बढ़ता देख गुरुग्राम जिला प्रशासन ने शहर के आठ स्थानों पर नमाज (Gurugram Me Namaz Per Rok) अदा करने की अनुमति को रद्द कर दिया है। साथ ही, दिल्ली से सटे होने और प्रदुषण के लगातार बढ़ते स्तर को देखते हुए गुरुग्राम में इस दिवाली पटाखों पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। यहां ग्रीन पटाखे भी नहीं जलाए जाएंगे। इसके अलावा प्रशासन की तरफ से ये भी कहा गया है, कि शहर के अन्य स्थानों जहां खुले में नमाज पढ़े जाने से आस-पास के लोगों को आपत्ति होगी, वहां भी अनुमति नहीं दी जाएगी। ज्ञात हो, कि मंगलवार को लघु सचिवालय में इस संबंध में एक बैठक हुई थी। मीटिंग में डीसीपी दीपक सरारण, हिंदू और मुस्लिम संगठनों के पदाधिकारी आदि मौजूद थे। सभी ने इस फैसले पर अपनी सहमति जताई थी।

बैठक के बाद सहमति से लिया फैसला

लघु सचिवालय में बैठक समाप्त होने के बाद उपायुक्त डॉ. यश गर्ग की बताया कि स्थानीय लोगों और आरडब्ल्यूए के एतराज के बाद जिला प्रशासन ने खुले में नमाज की अनुमति रद्द की है। उपायुक्त ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया, कि शहर के आठ जगहों पर नमाज अदा करने की अनुमति को रद्द किया गया है। शेष स्थानों पर भी यदि स्थानीय लोगों को आपत्ति होगी, तो वहां भी अनुमति नहीं दी जाएगी

जानें किन इलाकों में खुले में नमाज पर लगा प्रतिबंध:

गुरुग्राम जिला प्रशासन ने जिन इलाकों में खुले में नमाज पढ़ने की अनुमति को रद्द किया है वो हैं- डीएलएफ फेज-3 के वी ब्लॉक, सेक्टर-49 बंगाली बस्ती, सूरत नगर फेस- 1, डीएलएफ स्केयर टावर के पास, खेड़ी माजरा गांव के बाहर, दौलताबाद गांव के पास द्वारका एक्सप्रेस-वे पर, सेक्टर-68 गांव रामगढ़ के पास और गांव रामपुर से नखडोला रोड के पास। इन जगहों पर खुले में नमाज पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

Leave a Comment