राजस्थान में कोर्ट के बाहर गैंगस्टर का दिनदहाड़े मर्डर: काली स्कॉर्पियो से आए शूटर्स, संदीप विश्नोई को 9 गोलियां मारीं

राजस्थान में नागौर कोर्ट परिसर में सोमवार को दिनदहाड़े गैंगवार हो गया। कोर्ट परिसर के बाहर पुलिस के सामने ही शूटर्स ने गैंगस्टर संदीप विश्नोई को गोली मार दी। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। संदीप नागौर जेल में ही बंद था।

नागौर पुलिस गैंगस्टर संदीप को लेकर दोपहर में कोर्ट में पेशी के लिए पहुंची थी। इसी दौरान कार में आए शूटर्स ने गैंगस्टर संदीप को गोलियों से भून दिया। बताया जा रहा है कि शूटर हरियाणा के थे। बदमाशों ने करीब 9 फायर किए। सभी शूटर ब्लैक कलर की स्कॉर्पियो में आए थे।

बदमाशों की तलाश में पुलिस ने नागौर के आसपास नाकेबंदी कर दी है। सभी गाड़ियों को चेक किया जा रहा है। घटना के बाद कोर्ट के बाहर भारी भीड़ जमा हो गई। संदीप के शव को अस्पताल में रखवाया गया है। संदीप सुपारी किलर था।

संदीप हरियाणा का कुख्यात गैंगस्टर और सुपारी किलर था। वह सेठी गिरोह से जुड़ा था। पुलिस अधिकारियों के अनुसार शराब तस्करी के साथ वह सुपारी किलिंग भी करता था। उसने नागौर में भी एक व्यापारी का मर्डर किया था। पुलिस इसे गैंगवार मान रही है।

भीलवाड़ा में दो कॉन्स्टेबल की हत्या करने वाला तस्कर राजू फौजी और गैंगस्टर संदीप विश्नोई खास दोस्त थे। पुलिसकर्मियों की हत्या के लिए संदीप ने ही राजू फौजी को हथियार दिए थे। संदीप ने पुलिस को पूछताछ में बताया था कि अपनी गैंग को ऑपरेट करने के लिए उसने उत्तर प्रदेश के एक सप्लायर से हथियार खरीदे थे।

2016 में विश्नोई ने फौजी के पास बाड़मेर में फरारी काटी थी। इसी के बाद फौजी और संदीप के बीच अच्छी दोस्ती हो गई। पुलिस पूछताछ में सामने आया था कि गैंगस्टर संदीप ने राजू फौजी को रिवॉल्वर, पिस्टल सहित कई हथियार दिए थे। संदीप ने बताया था कि इसके लिए उसने फौजी से कोई रुपए नहीं लिए। कॉन्स्टेबल की हत्या के बाद फौजी उसके पास हरियाणा में रुका था।

3 साल पहले ली थी 30 लाख की सुपारी
तीन साल पहले नागौर में 29 नवंबर 2019 को हुए हत्याकांड में पहली बार संदीप विश्नोई का नाम सामने आया था। पूछताछ में पता चला था कि एक महिला ने पति की हत्या का बदला लेने के लिए मर्डर की साजिश रची थी। हत्या के लिए महिला ने संदीप विश्नोई को 30 लाख की सुपारी दी थी। इसी मामले में गैंगस्टर संदीप नागौर जेल में बंद था।

Leave a Comment