पाकिस्तान में बर्फीली मौत का भयावह मंजर: भारी बर्फबारी में फंसे 1000 टूरिस्ट वाहन; 10 बच्चों समेत 21 की मौत, 10 लोग कार में ही जम गए

पाकिस्तान के पंजाब के पहाड़ी इलाके मुर्री में जबरदस्त बर्फबारी के कारण 1000 से ज्यादा टूरिस्ट वाहन बीच रास्तों में ही फंस गए हैं, जिनमें हजारों लोग सवार हैं। BBC की रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार को फंसे इन वाहनों में सवार लोगों में से 10 बच्चों समेत कम से कम 21 की मौत हो गई है। मरने वालों में से कम से कम 10 की मौत कार में बैठे-बैठे ही जम जाने के कारण हो गई है।

कार में बैठे-बैठे मरने वालों के दर्दनाक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो गए हैं। साथ ही वहां बुरी हालत से जूझ रहे टूरिस्ट्स के वीडियो और फोटो भी खूब शेयर किए जा रहे हैं।

मरने वालों में एक पुलिसकर्मी का पूरा परिवार भी
इमरजेंसी रेस्क्यू सर्विस 1122 के हवाले से दी गई जानकारी में कहा गया है कि मरने वालों में एक पुलिसकर्मी, उसकी पत्नी और 6 बच्चे भी शामिल हैं। एक अन्य परिवार के भी 5 लोगों के मरने की खबर है। एक टूरिस्ट उस्मान अब्बासी ने फोन पर बताया कि लोग बहुत ही बुरी हालत में हैं। केवल टूरिस्ट्स ही इस बर्फ से नहीं जूझ रहे हैं बल्कि लोकल लोगों के वाहन भी टूरिस्ट्स की गाड़ियों के जाम में फंसे हुए हैं।

पाकिस्तानी गृह मंत्री ने कहा- एक लाख से ज्यादा वाहन पहुंचे

रिपोर्ट में कहा गया है कि ये सभी टूरिस्ट्स बर्फबारी का आनंद लेने के लिए पहुंचे थे, लेकिन शनिवार को वापस लौटते समय सड़कों पर ही फंस गए। पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख राशिद के मुताबिक, ब्रिटिश कॉलोनियल शहर मुर्री में यह स्थिति पिछले कुछ दिन के दौरान 1 लाख से ज्यादा टूरिस्ट वाहन पहुंच जाने के कारण बनी है।

इससे पहले रावलपिंडी के डिप्टी कमिश्नर ने सोशल मीडिया पर 23 हजार गाड़ियों से लोगों को रेस्क्यू किए जाने और अब भी 1000 गाड़ियां फंसी होने की जानकारी शेयर की थी। DSP मुर्री ने भी वीडियो संदेश में कहा था कि वहां अब तक 4 फुट बर्फबारी हो चुकी है और सैकड़ों पेड़ गिरने से सड़कें बंद हो गई हैं।

सेना को लगाया गया रेस्क्यू ऑपरेशन में
पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद से उत्तर में स्थित मुर्री समुद्र तल से करीब 7500 फुट की ऊंचाई पर मौजूद छोटा सा टूरिस्ट डेस्टिनेशन है। इसे 19वीं सदी में ब्रिटिश सेना ने अपने मेडिकल बेस के तौर पर बसाया था। पहाड़ी इलाका होने के कारण टूरिस्ट्स की जान बचाने के लिए पाकिस्तानी सेना को रेस्क्यू ऑपरेशन में लगाया गया है। लेकिन उन्हें भी रेस्क्यू ऑपरेशन में परेशानी आ रही है।

लोकल पब्लिक ने दिया टूरिस्ट्स को कंबल और खाना
बर्फबारी के कारण रास्तों में ठंड से जूझ रहे टूरिस्ट्स को कारों से निकालकर सरकारी बिल्डिंगों और स्कूलों में पहुंचाया गया है। जहां लोकल पब्लिक की मदद से उन्हें कंबल और खाना उपलब्ध कराया गया है।

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कहा- सदमे में हूं
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बर्फबारी के कारण मौत की खबरों को लेकर खुद को सदमा पहुंचने की बात कही है। इमरान ने सोशल मीडिया पर कहा- बिना मौसम की जानकारी लिए भारी संख्या में टूरिस्ट्स का पहुंच जाने और भयानक बर्फबारी से निपटने के लिए लोकल एडमिनिस्ट्रेशन की पर्याप्त तैयारी नहीं थी। इसकी जांच की जा रही है।

खतरा अभी टला नहीं, फिर बर्फबारी-बारिश का अनुमान
मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि मुर्री में फ़िलहाल बर्फ़बारी नहीं हो रही है। हालांकि कुछ घंटों बाद और कल भी बारिश और बर्फ़बारी होने का अनुमान लगाया गया है। गृहमंत्री शेख राशिद ने बताया कि इस्लामाबाद और अन्य इलाकों से मुर्री जाने वाले सभी रास्तों को बंद कर दिया गया है।

बर्फबारी वाले इलाके में सिर्फ भोजन और राहत सामग्री ले जाने वाली गाड़ियों को ही जाने की अनुमति दी जा रही है। ये रास्ते रविवार रात 9 बजे तक बंद रखे जाएंगे। पंजाब सरकार ने मुर्री में ‘स्नो इमरजेंसी’ का ऐलान कर दिया है। उस इलाके को आपदा प्रभावित क्षेत्र भी घोषित किया गया है।

Leave a Comment