भाजपा नेता के कार में मिला EVM, EC की कार्रवाई, कांग्रेस का सवाल

    0

    एक केंद्र शासित प्रदेश सहित पांच राज्यों में चुनावी घमासान जारी है। सत्ता पक्ष और विपक्ष लगातार चुनाव प्रचार में जुटी हुई है। इन सबके बीच असम और पश्चिम बंगाल में दो चरण के मतदान खत्म हो चुके है। दूसरी ओर से चुनाव आयोग के साथ-साथ ईवीएम को लेकर भी कई तरह के सवाल उठाए जाने लगे है। इन सबके बीच असम के करीमगंज जिले में एक कार से ईवीएम बरामद की गई है। इसके बाद से विपक्ष चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर सवाल उठा रहा है। शुरुआती जांच में पता चला है कि जिस बोलेरो कार से ईवीएम मिला है वह पाथरकांडी विधानसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार कृष्णेंदु पाल की है। सबसे खास बात तो यह है कि जब कार में ईवीएम बरामद की गई तो उस समय चुनाव आयोग का ना कोई अधिकारी और ना ही कार के भीतर कोई सुरक्षाकर्मी मौजूद था।

    खबर मिलते ही चुनाव आयोग सक्रिय हो गया। आनन-फानन में चार मतदान अफसरों को निलंबित कर दिया गया है। उनके खिलाफ एफआईआर लिखने के भी आदेश दे दिए गए हैं। चुनाव आयोग ने कहा कि परिवहन प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के लिए पीठासीन अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। पीओ और 3 अन्य अधिकारियों को निलंबित किया गया है। हालांकि ईवीएम की सील बंद मिली लेकिन LAC 1 रतबाड़ी(SC) के इंदिरा एमवी स्कूल, संख्या 149 पर दोबारा मतदान कराने का फैसला किया गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी से भी इस मामले को लेकर आयोग में रिपोर्ट मांगी है डीएम से चुनाव आयोग को मिली जानकारी के मुताबिक यह कहा गया है कि पोलिंग पार्टी की गाड़ी बीच रास्ते में खराब हो गई थी जिसके बाद रास्ते से गुजर रही एक गाड़ी का सहारा लेना पड़ा वह गाड़ी भाजपा विधायक और मौजूदा चुनाव में पार्टी उम्मीदवार की गाड़ी है

     

    अब इस मामले को लेकर राजनीति तेज हो गई है कांग्रेस ने सवाल उठाए है। तमाम मसले पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने तंज कसा है। राहुल ने ट्वीट कर कहा कि EC की गाड़ी खराब, भाजपा की नियत खराब, लोकतंत्र की हालत खराब। वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी इस मामले को लेकर भाजपा पर हमला बोला है प्रियंका गांधी ने लिखा कि जब भी निजी वाहन में ईवीएम ले जाये जाने के वीडियो सामने आते हैं तो ये चीजें आम होती हैं कि वाहन सामान्यत: भाजपा उम्मीदवारों या उनके सहयोगियों का होता है, इन वीडियो को इकलौती घटना के तौर पर लिया जाता है और खारिज कर दिया जाता है। भाजपा अपनी मीडिया मशीनरी का इस्तेमाल कर उन लोगों को आरोपी बनाती है जिन्होंने इसका खुलासा किया होता है। कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘‘सच्चाई यह है कि इस तरह की कई घटनाओं की सूचना दी जा रही है और उनके बारे में कुछ भी नहीं किया जा रहा है। चुनाव आयोग को इन शिकायतों पर निर्णायक रूप से कार्रवाई करने और सभी राष्ट्रीय दलों द्वारा ईवीएम पर गंभीर पुनर्मूल्यांकन करने की आवश्यकता है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here