यूपी में माफियाओं का खात्मा : योगी सरकार का डंडा चला मेरठ में, कबाड़ माफिया हाजी इकबाल की करोड़ों की संपत्ति कुर्क

Meerut : उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर के कुख्यात कबाड़ माफिया तथा गैंग लीडर हाजी इकबाल की पटेलनगर स्थित दो संपत्तियों को पुलिस ने आज कुर्क कर लिया। पुलिस ने दोनों मकानों पर सील लगाते हुए उनके बाहर जिलाधिकारी का नोटिस चस्पा कर दिया। इस पहले एएसपी कैंट सूरज राय के निर्देशन में भारी संख्या में पटेल नगर पहुंची पुलिस ने मुनादी कराई और जिलाधिकारी के आदेश को पढ़कर सुनाया। भारी संख्या में पुलिस बल को देखकर इलाके में हड़कंप मच गया। विधिनुसार कुर्क की गई इन दो संपत्तियों का कुल बाजार मूल्य लगभग दस करोड रूपये से अधिक आंका जा रहा है ।

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने जब्तीकरण की कार्रवाई की जानकारी देते हुए बताया कि जिलाधिकारी के आदेश पर आज पुलिस ने कुख्यात कबाड़ माफिया तथा गैंग लीडर हाजी इकबाल द्वारा समाज विरोधी क्रियाकलापों के माध्यम से अर्जित की गई पटेल नगर स्थित कोठी नंबर 29 और कोठी नंबर 30ए को विधिनुसार आज कुर्क कर लिया। । एसएसपी के अनुसार पुलिस द्वारा दोनों मकानों में जाकर निरीक्षण कर वहां मौजूद सामान की वीडियोग्राफी भी कराई गई।

चोरी किए गए वाहनों का क्रय/विक्रय

पुलिस के अनुसार कुख्यात कबाड़ माफिया/ गैंगलीडर हाजी इकबाल के विरुद्ध विभिन्न थानों में कम से कम 06 अभियोग पंजीकृत हैं जिनमें भारतीय दंड विधान के अंतर्गत पंजीकृत अभियोगों के अतिरिक्त गैंगस्टर अधिनियम के अंतर्गत की गई निरोधात्मक कार्यवाही भी शामिल है ।

पुलिस का कहना है कि स्थानीय एवं दूर-दराज के क्षेत्रों से भी की जाने वाली वाहन चोरी तथा उनका अवैध कटान करने और चोरी किए गए वाहनों का क्रय/विक्रय करने तथा उनको अवैध रूप से काटकर निकाले गए ।

पार्ट्स का क्रय/विक्रय करने का अवैध व्यापार एक गिरोह बनाकर किए जाने के कारोबार का मुख्य आरोपी तथा गैंग लीडर हाजी इकबाल ही है । इसके गिरोह के अन्य सदस्य भी न्यायिक अभिरक्षा में निरुद्ध किए गए हैं तथा उनकी समाज विरोधी क्रियाकलापों से अर्जित संपत्ति का भी पता लगाकर इसी प्रकार की कार्रवाई विधिनुसार की जा रही है ।

यहां यह बताना बहुत जरूरी है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सबसे प्रमुख कबाड़ माफिया में गिना जाने वाला हाजी इकबाल, जो कि वाहन कटान के अवैध काले कारोबार का मुखिया माना जाता है जबकि कोई अन्य व्यवसाय व खेती आदि नही है ।

परंतु वाहन चोरी और वाहन कटान के काले कारोबार ने थोड़े ही समय में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रमुख वाहन कटान माफियाओं में इसका नाम दर्ज करा दिया और इसने इस काले कारोबार से कम समय में बहुत संपत्ति अर्जित कर ली । इन सभी अवैध संपत्तियों को चिन्हित कर और इसकी बेनामी संपत्तियों का पता लगाकर कठोरतम कार्रवाई इस काले कारोबार को समाप्त करने के लिए की जा रही है।

विधिनुसार कुर्क की गई सभी संपत्तियों पर नियमानुसार नोटिस चस्पा किए गए हैं तथा मुनादी कराकर भी जन सामान्य को इस कार्यवाही के बारे में अवगत कराया गया है ताकि इन संपत्तियों का विधि विरुद्ध क्रय / विक्रय न किया जा सके । इसके साथ ही इन सभी संपत्तियों का प्रशासक सहायक पुलिस अधीक्षक कैंट को नियुक्त किया गया है।

Leave a Comment