Dengue Ka Kahar: देश में बढ़ रहा डेंगू का कहर, केंद्र सरकार हुई अलर्ट, जानें लक्षण और बचाव के उपाय

Dengue Ka Kahar: देश में इन दिनों त्योहारी सीजन (Festive Season) जारी है और इस बीच कोरोना वायरस, डेंगू (Dengue) समेत कई वायरस अपना कहर बरपा रहे हैं। बीते डेढ़ साल से कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus Mahamari) से जंग जारी है, वहीं दूसरी ओर अब डेंगू एक बड़ी चुनौती बनकर उभरा है। देश भर के कई राज्यों में डेंगू के मामलों में तेजी दर्ज की जा रही है। जिसके बाद राज्य के साथ साथ केंद्र सरकार भी अलर्ट मोड (Modi Government In Alert Mode) में आ गई है और डेंगू के प्रकोप (Dengue Ka Prakop) को रोकने के लिए जरूरी कदम उठाने शुरू कर दिए हैं।

केंद्र सरकार ने डेंगू को नियंत्रित करने के लिए 9 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में उच्च स्तरीय टीम भेजी है। ये ऐसे राज्य हैं, जहां पर डेंगू के मामले सबसे ज्यादा आ रहे हैं, इनमें दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पंजाब, जम्मू और कश्मीर, हरियाणा, तमिलनाडु और केरल शामिल हैं। बता दें कि दिल्ली में अभी बड़ी संख्या में डेंगू के मामले सामने आ रहे हैं। इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय ने अधिकारियों को जांच में तेजी लाने का निर्देश दिया है ताकि सही समय पर मरीजों का पता लगाकर उनका इलाज किया जा सके।

डेंगू के बीच दिल्ली में स्वाइन फ्लू (Swine Flu) की भी दस्तक हो चुकी है। कोरोना वायरस, डेंगू और स्वाइन फ्लू के शुरुआती लक्षण (Symptoms) एक जैसे होने के कारण कौन सा मरीज किस बीमारी से ग्रसित है यह पता लगाने में परेशानी हो रही है। ऐसे में हम आपको डेंगू के बढ़ते प्रकोप के बीच ये क्या है, कैसे फैलता है, इसके लक्षण क्या होते हैं और डेंगू से बचने के लिए क्या उपाय करना चाहिए, इसके बारे में बताने जा रहे हैं। ताकि आप समय रहते ही शुरुआती लक्षणों पर ध्यान देकर अपना इलाज सही समय पर करवा सकें।

डेंगू क्या होता है (Dengue Kya Hota Hai)

डेंगू (Dengue) एक मच्छर जनित वायरल इंफेक्शन या डिजीज है। यह बीमारी एडीज मच्छर के काटने से फैलती है। जब कोई वायरस वाला एडीज मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है तो वह डेंगू से पीड़ित हो जाता है। यह रोग मुख्य रूप से दुनिया के उष्णकटिबंधीय (Tropical) और उपोष्णकटिबंधीय (Subtropical) क्षेत्रों में पाया जाता है।

इसके लक्षण 3 दिनों से लेकर 14 दिनों तक बने रहते हैं। डेंगू के इलाज (Dengue Ke Ilaj) के बारे में बात करें तो इस बीमारी की कोई सटीक दवा नहीं है। लेकिन इस पर शुरुआत में ही ध्यान देकर इसे काबू किया जा सकता है और सही खानपान से जल्द ठीक हुआ जा सकता है। वहीं ज्यादा गंभीर मामलों में मरीज को तुरंत हॉस्पिटल में भर्ती कराना होता है वरना पीड़ित की जान भी जा सकती है।

डेंगू के लक्षण (Dengue Ke Lakshan)

अगर बात करें डेंगू बुखार (Dengue Bukhar) के लक्षण (Dengue Ke Symptoms) की तो इसका सबसे आम लक्षण होता है तेज बुखार आना। डेंगू में 104 फारेनहाइट डिग्री का फीवर चढ़ता है और नीचे दिए गए लक्षणों में से कम से कम दो लक्षण जरूर दिखाई देते हैं। जिनका सही समय पर पहचानकर डेंगू का इलाज (Dengue Ka Ilaj) जल्द शुरू किया जा सकता है।

  • तेज बुखार
  • सिर दर्द
  • आंखों में दर्द
  • मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द
  • थकान
  • कमजोरी
  • उल्टी आना
  • त्वचा पर लाल चकते पड़ना
  • भूख न लगना
  • ग्रंथियों में सूजन
  • जी मचलाना

    गंभीर डेंगू के लक्षण (Dengue Ke Gambhir Lakshan)

    हालांकि अगर डेंगू गंभीर हो जाए तो पीड़ित को रक्तस्रावी बुखार या डीएचएफ (Dengue Haemorrhagic Fever) होने का भी खतरा हो जाता है। तो चलिए जानते हैं कि डेंगू के गंभीर मामलों के लक्षण (Dengue Ke Severe Symptoms) क्या होते हैं-

    • पेट में तेज दर्द होना
    • थकान
    • चिड़चिड़ापन या बेचैनी होना
    • सांस लेने में परेशानी होना
    • मसूड़ों या नाक से खून आना
    • लगातार उल्टी आना
    • मल, मूत्र या उल्टी से खून आना
    • त्वचा के नीचे रक्तस्राव होना
    • सीने में तरल पदार्थ का जमा होना

      डेंगू से बचाव (Prevention Of Dengue)

      कई राज्यों और शहरों में डेंगू के मामले तेज से बढ़ रहे हैं ऐसे में जरूरी है कि आप अपने आप को इस वायरस से बचाकर रखें। और कुछ जरूरी उपायों से अपने परिवार वालों की भी डेंगू से सुरक्षा करें। तो चलिए जानते हैं कि डेंगू से बचाव (Dengue Se Bachav) के लिए आपको क्या करना चाहिए।

      1. चूंकि डेंगू एक संचारी रोग है, जो मच्छरों के काटने से एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलता है। ऐसे में जरूरी है कि आप अपने आप को मच्छरों से बचाकर रखें। मॉस्किटो रेपलेंट्स, मच्छरदानी का इस्तेमाल करें, इससे मच्छर आपके पास नहीं आएंगे।
      2. इसके साथ ही अपने घरों के खिड़की और दरवाजों को सुबह के समय में और शाम होने से पहले बंद कर दें, क्योंकि सुबह और शाम को डेंगू के मच्छर अत्यधिक सक्रिय रहते हैं।
      3. सुबह और शाम के समय बाहर निकलने से बचें। अगर किसी जरूरी काम से बाहर निकलते हैं तो फिर फुल कपड़े जरूर पहनें। जिससे शरीर अच्छे से कवर हो सके।
      4. अपने घर के आसपास पानी इकट्ठा न होने दें और पानी को ढंक कर रखें। क्योंकि एडीज मच्छर साफ और स्थिर पानी में पनपता है।

Leave a Comment