कोविशील्ड वैक्सीन: दुनिया में सस्ती, भारत में सबसे महंगी, जानें अन्य देशों के रेट

    6

    नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते कहर के बीच भारत में महामारी के खिलाफ जारी टीकाकरण अभियान (Covid-19 Vaccination campaign) के तहत एक मई से वैक्सीनेशन का तीसरा चरण (Vaccination 3rd Phase) शुरू होने वाला है। इस चरण में 18 साल से ऊपर के उम्र के लोगों को टीका लगाया जाएगा।

    वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) के तीसरे चरण से पहले सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) ने बुधवार को कोविशील्ड वैक्सीन (Covishield vaccine) की कीमत तय की थी। कंपनी ने नए रेट जारी करते हुए बताया कि प्राइवेट अस्पतालों को यह वैक्सीन 600 रुपये प्रति डोज, जबकि और राज्य सरकारों को 400 रुपये प्रति डोज के हिसाब से दी जाएगी।

    इसी के साथ सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने दावा किया था कि उनकी वैक्सीन विदेशी वैक्सीन के मुकाबले काफी सस्ती है। लेकिन एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, SII की प्राइवेट मार्केट में 600 रुपए प्रति डोज यानी 8 डॉलर दुनिया के किसी भी देश की तुलना में ज्यादा है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्रोजेनेका द्वारा बनाई गई इस वैक्सीन की कीमत दूसरे देशों के मुकाबले भारत में सबसे ज्यादा है।

    बता दें कि भारत में इस वैक्सीन का उत्पादन सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा किया जा रहा है। वहीं, केंद्र को मिलने वाली नई खेप और राज्य सरकारों को मिलने वाली डोज की कीमत 400 रुपए (5.30 डॉलर से ज्यादा) प्रति डोज भी अमेरिका, यूके और यूरोपीय यूनियन के मुकाबले ज्यादा है। गौरतलब है कि सीरम ने कहा था कि 150 रुपए प्रति डोज का मौजूदा कॉन्ट्रैक्ट खत्म होने के बाद केंद्र को भी वैक्सीन 400 रुपए प्रति डोज मिलेगी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here