काल के गाल में देश: दुनिया के लगभग आधे संक्रमित भारत से, हर चौथी मौत भी

    3

    नई दिल्‍ली: कोरोना वायरस (Corona Virus) का कहर पूरी दुनिया में है लेकिन भारत के लोगों पर यह काल बनकर टूट पड़ा है। शुक्रवार को भारत में रिकार्ड चार लाख एक हजार 911 संक्रमितों की पहचान हुई है। पूरी दुनिया के 8.66 लाख मरीजों में यह आंकड़ा लगभग 46 प्रतिशत है। देश में कोरोना से मरने वालों की तादाद भी सबसे ज्‍यादा है।

    कोरोना संक्रमण के मामले में भारत ने दुनिया के सभी देशों को पीछे छोड़ दिया है। जिस ब्राजील की पूरी दुनिया आलोचना कर रही थी अब वह भी भारत से बेहतर स्थिति में है। शुक्रवार को भारत में चार लाख से अधिक कोरोना मामले पहचाने गए हैं। लोगों को आशंका है कि वास्‍तविक आंकड़े कहीं ज्‍यादा हैं क्‍योंकि अब भी ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना टेस्‍ट के पर्याप्‍त इंतजाम नहीं हैं।

    कोरोना संक्रमितों की बढ़ती रफ्तार को इससे भी समझा जा सकता है कि सबसे ज्‍यादा मरीजों वाले अमेरिका में शुक्रवार को महज 58700 नए मामले मिले जबकि भारत में इससे सात गुना अधिक लोगों को कोरोना संक्रमित पाया गया है।

    कोरोना के मरीजों की पहचान के साथ ही भारत पूरी दुनिया में संक्रमित रोगियों के मामले में दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। पहले नंबर पर अमेरिका है। जहां एक मई को 68 लाख दो हजार 668 सक्रिय मरीज पाए गए हैं जबकि भारत में सक्रिय मरीजों की संख्‍या 3272256 है। अमेरिका में क्रिटिकल कोरोना मरीजों की तादाद 9625 है। सक्रिय मरीजों की तादाद आधा से भी कम होने के बावजूद क्रिटिकल मरीजों के मामले में भारत की स्थिति बेहद खराब कही जा सकती है

    अमेरिका के 9625 के मुकाबले भारत में गंभीर रोगियों की तादाद 8944 है। तीसरे नंबर पर ब्राजील, कोलंबिया और फ्रांस है जहां सक्रिय मरीजों की तादाद भारत से भी कम है। ब्राजील में सक्रिय मरीजों की संख्‍या 1067137 और गंभीर रोगियों की संख्‍या 8318 है। कोलंबिया में सक्रिय रोगियों की संख्‍या 116696 और गंभीर रोगियों की संख्‍या 6006 है। जबकि फ्रांस पांचवें नंबर पर मौजूद फ्रांस में नौ लाख 71 हजार 990 और गंभीर रोगियों की तादाद 5676 है।

    कोरोना से हो रही मौतों के मामले में भी भारत की स्थिति चिंताजनक है। महामारी की चपेट में आकर जान गंवाने वालों में हर चौथा मरीज भारत से है। इसे ऐसे समझा जा सकता है कि शुक्रवार को कोरोना से पूरी दुनिया में कुल 14285 लोगों की मौत हुई इसमें से 3521 मौत अकेले भारत से है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here