कोरोना से इतनी आफतः एक बेड पर दो संक्रमित मरीज

    6

    मुंबई : कोरोना महामारी की दूसरी लहर शुरू हो चुकी है। आपको बता दें कि जैसे कोरोना के आंकड़ों में उछाल देखने को मिल रहा है वैसे – वैसे सरकारी अस्पतालों में मरीजों की भयावह स्थिति देखने को मिल रही है। महाराष्ट्र में कोरोना काफी तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में अस्पतालों में भी काफी दबाव पड़ रहा है। सोशल मीडिया पर नागपुर के अस्पताल का एक वीडियो वायरल हो रहा है जो सरकार की स्वास्थ व्यवस्था की कड़वी सच्चाई को बयां कर रही है।

    नागपुर के गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल का एक फोटो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि एक बेड पर दो कोविड -19 के मरीजों की तस्वीर देखने को मिल रही है। यह तस्वीर सरकार की स्वास्थ व्यवस्था की कड़वी सच्चाई को दर्शा रही है। अस्पताल के सुपरिटेंडेंट अविनाश गावंडे ने कहा ” प्रोटोकॉल के अनुसार मॉडरेट से सीवियर कोविड 19 पेशेंट और शहर के बाहर से आए गंभीर रूप से पेशेंट को अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। ”

    अस्पताल के सुपरिटेंडेंट ने कहा “कोरोना महामारी के दूसरी लहर से इस अस्पताल में काफी वर्कलोड तेजी से बढ़ गया है। बताया जा रहा है कि इसलिए बेड की संख्या कम पड़ रही है। उन्होंने कहा कि “हम बेड की संख्या को बढ़ा रहे हैं। हालत अब पहले से सामान्य है एक बेड पर एक ही पेशेंट नजर आ रहे हैं। ” सोमवार को नागपुर में 3100 नए कोरोना केस रिकॉर्ड देखे गए हैं।

    नागपुर के गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल का फोटो वायरल होने पर बीजेपी पार्टी के नेता चंद्रकांत बावनकुले ने महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा “कोविड पेशेंट को उसी वार्ड में भर्ती किया जा रहा है जहां दूसरे बीमारी के पेशेंट का इलाज चल रहा है। “राज्य के पूर्व मंत्री चंद्रकांत बावनकुले ने कहा कि ” नागपुर के अस्पताल में बेड ही नहीं बचे हैं। जब ऐसे में कोरोना महामारी विकराल रूप ले रही है तो सरकार कुम्भकर्ण नींद ले रही है। ”

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here