देश के कुछ राज्यों में लगाए गए कोरोना प्रतिबन्ध, जानें क्या होंगे नए नियम

    0
    0

    Coronavirus : कोरोना संक्रमण (Coronavirus) का खतरा अभी तक खत्म नहीं हुआ है। देश के कई राज्यों में इस वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की बढ़त देखी जा रही है। जिसकी वजह से कोरोना की तीसरी लहर (Corona Third Wave) के बचाव को लेकर कई राज्यों में एक बार फिर कर्फ्यू की स्थिति बन रही है। केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल और असम राज्यों में कोरोना का संक्रमण एक बार फिर तेज गया है।

    देश के जिन राज्यों में कोरोना का संक्रमण ज्यादा है उन राज्यों के लिए नए प्रतिबन्ध तैयार कर दिए गए हैं। नाईट कर्फ्यू के साथ लोगों के लिए आरटी – पीसीआर टेस्ट (RT – PCR Test) अनिवार्य करने जैसे कई नए नियमों की घोषणा इन कोरोना संक्रमित राज्यों में की गई है। आइए जानते हैं इस राज्यों के बारे में राज्य सरकार के सख्त नियम।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News

    तमिलनाडु राज्य में कोरोना का कहर एक बार फिर तेजी से बढ़ता नजर आ रहा है। जिसकों देखते हुए तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने लगे कोरोना कर्फ्यू को 15 सितंबर तक बढ़ाने का निर्देश दिया है। इसके साथ उन्होंने समुद्र स्थल पर लोगों के जाने पर रोक लगा दी है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए धार्मिक स्थलों पर लोगों की मनाही रखी है। वहीं तमिलनाडु में 1 सितंबर से 9 वीं -12 वीं तक के छात्रों के लिए स्कूल खोलने की अनुमति दी है।

    केरल

     

    देश के केरल राज्य में कोरोना का खतरा बढ़ता नजर आया है जिसके लिए सरकार ने राज्य में एक बार फिर नाईट कर्फ्यू (night curfew) लगा दिया है। केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (Chief Minister Pinarayi Vijayan) ने नाईट कर्फ्यू को रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लगने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा उन इलाकों में पूर्ण तरीके से लॉकडाउन लगाया जाएगा जिन इलाकों में कोरोना का संक्रमण 7 से अधिक है।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News
    Previous newsहिंद-प्रशांत में चीन को घेरने की तैयारी! IAF चीफ की वायु सेना प्रमुखों संग मीटिंग
    Next newsकेरल में कोरोना – महामारी का सबसे बड़ा रहस्य
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here