कोरोना से बेबस हुई दिल्ली: इन दो वेरिएंट ने बढ़ाई चिंता, बढ़ रहा संक्रमण

    3

    नई दिल्ली: पूरे देश में दूसरी कोरोना लहर (Corona Wave) इतनी घातक व तीव्र होने की प्रमुख वजह 10 राज्यों में डबल म्यूटेंट वायरस (Double mutant variant)सक्रिय होना है। जीनोम सीक्वेंसिंग के दौरान इस लहर को लेकर यह खुलासा हुआ। माना जा सकता है कि देश में इसी कारण बीते चार दिनों से रोज दो लाख से ज्यादा संक्रमित मिल रहे हैं।

    हर राज्य की तरह दिल्ली में भी कोरोना की लहर घातक रूप ले चुकी है। पिछले कुछ दिनों में दिल्ली में कई लोगों की जान इस वायरस ने ले ली है, लेकिन अब जो नया डाटा सामने आया है वह और भी परेशान करने वाला है।

    दिल्ली में कोरोना के यूके वैरिएंट ने दस्तक दे दी है। नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल (NCDC) के चीफ डॉ. सुजीत सिंह का कहना है कि दिल्ली में मार्च के आखिरी हफ्ते में जो कोरोना के सैंपल आए, उनमें से 50 फीसदी में कोरोना का यूके वैरिएंट था। इस वक्त दिल्ली में कोरोना का यूके वैरियंट और डबल म्यूटेंट वैरिएंट मौजूद है। डॉ. सुजीत सिंह के मुताबिक, दिल्ली के अलावा महाराष्ट्र में भी 50 फीसदी से अधिक सैंपल डबल म्यूटेंट (B1.617 ) से जुड़े हैं।

    बता दें कि भारत में कोरोना वायरस का संकट अब विकराल रूप ले चुका है। कोरोना के सबसे पहले वैरिएंट के अलावा देश में इस वक्त कोरोना के यूके, अफ्रीकी और ब्राजील वैरिएंट एक्टिव हैं। इतना ही नहीं, भारत में एक नया वैरिएंट पाया गया है, जिसके बंगाल में सबसे ज्यादा मामले सामने आए थे। रिपोर्ट के मुताबिक, राजधानी दिल्ली में यूके वैरिएंट का असर मार्च से ही देखने को मिल गया था। मार्च के दूसरे हफ्ते में दिल्ली में यूके वैरिएंट के 28 फीसदी मामले थे, लेकिन मार्च के आखिरी हफ्ते तक ये आंकड़ा 50 फीसदी तक पहुंच गया।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here