7000 करोड़ के कर्ज में CCD, लापता होने से पहले सिद्धार्थ ने CFO को किया था आखिरी कॉल

    0
    23

    Bengaluru/Atulya Loktantra : कैफे कॉफी डे (CCD) के मालिक वीजी. सिद्धार्थ मंगलवार सुबह अचानक लापता हो गए. वह सोमवार को मंगलुरू आए थे, जिसके बाद शाम 6.30 बजे गाड़ी से उतरने के बाद लापता हुए और अभी तक नहीं मिले. पुलिस मामले की जांच कर रही है, राज्य के बड़े नेता लगातार उनके ससुर और पूर्व केंद्रीय मंत्री एस.एम.कृष्णा से मुलाकात कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि CCD पर 7000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज था.

    सूत्रों की मानें तो वीजी. सिद्धार्थ ने आखिरी बार अपनी कंपनी के CFO से 56 सेकेंड के लिए बात की थी. जिसमें उन्होंने अपने CFO को कंपनी का ख्याल रखने के लिए कहा था. जिस वक्त वह अपने CFO से फोन पर बात कर रहे थे, तो काफी निराश थे. CFO से बात करने के बाद उन्होंने अपना फोन स्विच ऑफ कर दिया था.

    पुलिस अभी भी उनकी तलाश में जुटी है, डॉग स्क्वायड की मदद ली जा रही है. जिस पुल से वह गायब हुए हैं, उसके करीब 600 मीटर दूरी पर ही समुद्र है और सोमवार रात को हाईटाइड भी आया था. जब से वीजी. सिद्धार्थ के लापता होने के बात सामने आई है, तभी से एसएम कृष्णा समेत पूरा परिवार परेशान है. लापता सिद्धार्थ की तलाश के लिए दक्षिण कन्नड़ पुलिस लग गई है. सिद्धार्थ जिस जगह से लापता हुए हैं, वहां पर एक नदी है, जिसमें पुलिस सर्च ऑपरेशन चला रही है.

    ड्राइवर ने बताया क्या हुआ था?
    इस मामले में ड्राइवर बसवराज पटेल का कहना है कि मैं सिद्धार्थ के लिए 3 साल से ड्राइविंग कर रहा हूं. सुबह 8 बजे मैं बेंगलुरु उनके घर गया, पहले विठ्ठल माल्या ऑफिस गए और फिर दोपहर 12.30 बजे उन्होंने सकलेशपुर ले जाने को कहा. हम इनोवा में जा रहे थे, लेकिन उन्होंने फिर मेंगलुरु जाने को कहा. ड्राइवर ने बताया कि केरल हाइवे के पास जब हम 3-4 किमी. अंदर गए थे, तो उन्होंने पुल के पास गाड़ी रोकने को कहा. ड्राइवर के बयान के मुताबिक, उन्होंने मुझे वहां पर ही रुकने को कहा और बताया कि वह थोड़ा टहल कर आ रहे हैं. फिर जब रात को आठ बजे मैंने उन्हें फोन किया तो उनका फोन बंद था. बाद में मैंने उनके बेटे को फोनकर बताया. और हमने शिकायत दर्ज करवाई.

    Previous Most Popular News Stories…तो अब अपने पुराने स्वरूप में लौटेगी रानी की छतरी
    Next Most Popular News Storiesबाढ़ में फंसे 183 छात्रों का हुआ रेस्क्यू, हॉस्टल अधीक्षक पर होगी कार्रवाई
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here