कोरोना के चलते अनाथ हुए बच्चों के लिए बड़ा कदम, मोदी सरकार जल्द कर सकती है ये एलान

    0
    0

    Coronavirus: देश में बीते करीब डेढ़ साल से कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus Pandemic) का प्रकोप जारी है। इस दौरान कई लोगों ने अपने परिवार के अहम सदस्यों को खो दिया। कई बच्चे अनाथ हो गए। अब कोविड-19 के चलते माता पिता को खोने वाले बच्चों के लिए केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) ने बड़ा कदम उठाया है। दरअसल, सरकार ऐसे बच्चों के स्टाइपेंड यानी मासिक वजीफे को बढ़ाने की तैयारी में है।

    ऐसा कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार कोरोना के चलते अनाथ हुए बच्चों के मासिक वजीफे को दो हजार बढ़ाया जा सकता है, जिसके बाद सहायता राशि 4 हजार रुपये हो जाएगी। बता दें कि अब तक सरकार अपने माता पिता को खोने वाले बच्चों को सहायता के तौर पर दो हजार रुपये प्रति माह दे रही थी। लेकिन अब जल्द ही इस राशि को बढ़ाकर 4 हजार किया जा सकता है। यह प्रस्ताव केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्रालय की ओर से दिया गया है, जिस पर मोदी कैबिनेट अगले कुछ हफ्ते में मुहर लगा सकती है।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News

    क्या किया था सरकार ने एलान?

    दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 29 मई को कोरोना के चलते अनाथ हुए बच्चों को पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन स्कीम (PM Cares for Children Scheme) के तहत सहायता राशि के तौर पर 2 हजार देने का एलान किया था। इसके साथ ही इन बच्चों को पढ़ाई और मेडिकल इंश्योरेंस की भी सुविधा देने की घोषणा भी की गई थी। ऐसे बच्चों को 23 साल की उम्र पर पहुंचने पर 10 लाख रुपये की वित्तीय सहायत भी दी जाएगी।

    गौरतलब है कि कोरोना वायरस महामारी के भयंकर प्रकोप ने लाखों लोगों को अपने आगोश में ले लिया। इनमें से कई ऐसे लोग भी रहे जो अपने परिवार के अकेले कमाने वाले थे तो वहीं कई ऐसे भी थे जो किसी के माता पिता थे, जिनके चले जाने से बच्चों के सिर से अभिभावकों को साया उठ गया। ऐसे बच्चों की मदद के लिए ही मोदी सरकार की ओर से ‘पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन’ योजना की शुरुआत की गई है।

    50% for Advertising
    Ads Advertising with us AL News
    Previous newsजीएसटी काउंसिल की सिफारिश, फूड एग्रीगेटर को मानें ई-कॉमर्स ऑपरेटर , ऑनलाइन फूड होगा महंगा
    Next newsआतंकी मॉड्यूल का खुलासाः मस्कट के रास्ते PAK पहुंचे थे ओसामा और जीशान, 15 दिन चली थी ट्रेनिंग
    इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here