सेना भर्ती घोटाला: 30 जगहों पर CBI का छापा, 6 लेफ्टिनेंट कर्नल समेत 23 फंसे

    11

    नई दिल्‍ली: केंद्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो (CBI) की ओर से सेना भर्ती घोटाले के सिलसिले में सोमवार को कई जगहों पर छापेमारी की गई। साथ ही सेवा चयन बोर्ड केंद्रों के जरिए सेना में अफसरों की भर्ती में कथित भ्रष्टाचार को लेकर 23 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इनमें 17 सैन्‍यकर्मी शामिल हैं। खबर मिली है जिन सैन्‍य कर्मियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है, उनमें 5 लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक के अफसर, दो मेजर, मेजर के एक रिश्‍तेदार, एक पत्‍नी समेत कुछ नायब सूबेदार, हवलदार और सिपाही रैंक के कर्मी शामिल हैं।

    सीबीआई ने सोमवार को 30 जगहों पर छापेमारी की। इनमें बेस अस्पताल, छावनी, सेना के अन्य प्रतिष्ठानों, कपूरथला, भठिंडा, दिल्ली, कैथल, पलवल, लखनऊ, बरेली, गोरखपुर, विशाखापत्तनम, जयपुर, गुवाहाटी, जोरहाट सहित 30 स्थानों पर छापेमारी की गई। साथ ही सेना भर्ती घोटाले में 30 स्थानों पर की गई सीबीआई की छापेमारी के दौरान कई भ्रामक दस्तावेज भी बरामद हुए हैं।

    अधिकारियों ने बताया कि सेना हवाई रक्षा कोर का लेफ्टिनेंट कर्नल एमसीएसएनए भगवान भर्ती गिरोह का कथित मास्टरमाइंड है और उसके खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है। सीबीआई के प्रवक्ता आरसी जोशी ने बताया कि तलाशी के दौरान भर्ती प्रक्रिया से संबंधित कई अपराध दर्शाने वाले भ्रामक दस्तावेज बरामद हुए हैं, जिनकी आगे की जांच की जा रही है।

    सीबीआई को शिकायत दिए जाने के पहले सेना ने अपने स्तर पर इस पूरे मामले की जांच की थी और अपनी इस जांच के दौरान सेना ने भी यह पाया था कि इस भर्ती घोटाले में सेना के लेफ्टिनेंट कर्नल मेजर स्तर के अनेक अधिकारी शामिल हैं। साथ ही इन अधिकारियों के परिजनों के जरिए भी रिश्वत की रकम ली गई थी।

    सूत्रों के मुताबिक सेना को अपनी जांच के दौरान पता चला था कि रिश्वत की रकम नगदी के अलावा बैंक चेक के जरिए भी दी गई थी और कुछ मामलों में तो बैंक से बैंक रकम ट्रांसफर की गई थी। सीबीआई प्रवक्ता के मुताबिक सेना मुख्यालय के सतर्कता विभाग के जरिए यह शिकायत सीबीआई को दी गई थी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here