चुनाव आयोग की अदालत में दलील, टिप्पणी से छवि हुयी धूमिल, रोकी जाएं ऐसी खबरें

    10

    नई दिल्ली : कोरोना महामारी के बढ़ते आंकड़ों के लिए मद्रास हाईकोर्ट (Madras High Court) ने चुनाव आयोग (Election commission) को जिम्मेदार ठहराया था जिस पर अब चुनाव आयोग ने अदालत में दलील रखी। आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने कहा कि “अदालत की इस टिप्पणी से छवि धूमिल हुई है। इसके साथ आयोग ने इस मामले पर मीडिया के प्रसारण पर भी रोक लगाने को कहा है। ”

    आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने मद्रास उच्च न्यायालय के समक्ष अपनी दलील में कहा है कि मीडिया को सुनवाई के दौरान न्यायाधीशों द्वारा मौखिक टिप्पणियों की रिपोर्ट नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा केवल आदेश में दर्ज टिप्पणियों की रिपोर्ट करनी चाहिए।

    मद्रास उच्च न्यायालय के समक्ष चुनाव आयोग ने कई दलील पेश की है। जिसमें उन्होंने कहा ” मीडिया रिपोर्टरों ने ईसीआई की छवि को एक संवैधानिक एजेंसी को धूमिल कर दिया है। जिसे संचालन चुनाव की संवैधानिक जिम्मेदारी सौंपी गई है। ” चुनाव आयोग ने अदालत में बताया कि राजनीतिक नेता अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने में विफल रहे हैं। इसके साथ कोर्ट की अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी।

    मद्रास हाई कोर्ट ने सोमवार को निर्वाचन आयोग की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि ” देश में कोविड -19 की दूसरी लहर के लिए अकेले जिम्मेदार ठहराते हुए सबसे गैर संस्था बताया था। “आपको बता दें कि हाईकोर्ट ने तीखी टिप्पड़ी देते हुए यह भी कहा था कि ” निर्वाचन आयोग के अधिकारीयों के खिलाफ हत्या के आरोपों में भी मामला दर्ज किया जा सकता है।

     

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here