उदयपुर हत्याकांड के बाद यूपी में भी अलर्ट, सोशल मीडिया पर बढ़ी निगरानी

Udaipur : राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल की गला काटकर हत्या के बाद उत्तर प्रदेश में अलर्ट घोषित किया गया है। राज्य की पुलिस ने सोशल मीडिया पर निगरानी बढ़ा दी है। संदिग्ध गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। यूपी के कई शहरों में पिछले दिनों जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा से सबक लेते हुए पुलिस काफी सतर्क है।

बता दें, बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के पैगंबर मोहम्मद पर दिए बयान के विरोध में शुक्रवार को देश में कई शहरों में जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन हुए थे। दिल्ली की जामा मस्जिद, उत्तर प्रदेश के सहारनपुर, हैदराबाद, प्रयागराज, मुरादाबाद, लखनऊ और पश्चिम बंगाल के हावड़ा में मुसलमानों ने जुम्मे की नमाज के बाद विरोध-प्रदर्शन किया। कुछ जगहों पर नमाजियों ने पुलिस पर पथराव भी किया, जिसके जवाब में सुरक्षा बलों को कुछ स्थानों पर लाठी चार्ज करने, आंसू गैस के गोले छोड़ने तथा हवा में गोलियां चलानी पड़ी थी।

राजस्थान के उदयपुर शहर में एक शख्स की नुपूर शर्मा के पक्ष में पोस्ट करने के कारण मंगलवार को हत्या कर दी गई। कन्हैयालाल नाम के शख्स उदयपुर में भूतमहल के पास सुप्रीम टेलर्स नाम से दुकान चलाते थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, दोपहर करीब 2:30 बजे रियाज अख्तारी और गौस मोहम्मद नाम के आरोपी तलवार और चाकू लेकर उनकी दुकान में आए, और दिनदहाड़े उनका गला काटकर उन्हें मार डाला। हिंदू संगठनों ने घटना के विरोध में उदयपुर में प्रदर्शन किया है।

हमलावर कन्हैयालाल की दुकान में नाप देने के बहाने घुसे थे, और उन्होंने बकायदा पूरी घटना का वीडियो भी बनाया। वीडियो में दिख रहा है कुछ लोग चाकू और तलवार लेकर दुकान में घुस जाते हैं, और पहले नाप देते हैं। कुछ ही देर बाद दुकानदार कन्हैयालाल पर हमला कर उसे मौत के घाट उतार देते हैं। हत्या के बाद आरोपियो ने ‘सिर तन से जुदा’ के नारे भी लगाए। पुलिस ने इस घटना को अंजाम देने वाले दोनों आरिपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

दोनों आरोपियों का ‘इस्लामी दावते’ संगठन से संबंध बताया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक उदयपुर में दिन दहाड़े गर्दन काटकर कन्हैयालाल की हत्या करने वाले दोनों आरोपी मोहम्मद रियाज़ और गौस मोहम्मद ‘इस्लामी दावते’ नाम के संगठन से जुड़े हुए हैं। दोनों हत्या कर अजमेर दरगाह जाने की फ़िराक़ में थे। हत्या के बाद अजमेर दरगाह ज़ियारत के लिए दोनों रवाना हुए थे, लेकिन बीच में ही पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। सुरक्षा कारणों से दोनों आरोपियों को पूछताछ के लिए पुलिस उदयपुर से बाहर अज्ञात जगह लेकर गई है। इस वक्त राजस्थान में हालात काफी तनावपूर्ण है। संवेदनशील इलाकों में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। पूरे महीने के लिए राज्य के सभी जिलों में धारा 144 लगा दी गई है। NIA की टीम मामले की जांच में जुटी है।

Leave a Comment