6 बजे तक बहुमत साबित करने का टाइम: राज्यपाल

21

बैंगलोर/अतुल्यलोकतंत्र: कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला के दिए आदेश के बाद भी विधानसभा में कर्नाटक सरकार काे दिए बहुमत साबित करने का टाईम चला गया है लेकिन अभी तक प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है। मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ( HD Kumaraswamy) ने साफ कह दिया था कि राज्यपाल के निर्देश के अनुसार दोपहर 1.30 बजे तक बहुमत साबित पूरा नहीं किया जा सकता है। इससे पहले कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार का कहना है कि राज्यपाल विधानसभा के मामले में हस्तक्षेप नहीं कर सकते हैं, इन सभी के पीछे भाजपा है। लेकिन अभी तक विधानसभा अध्यक्ष ने बहुमत पर वोटिंग नहीं करवाई है।

–राज्यपाल ने मुख्यमंत्री का पत्र लिखकर छह बजे तक विधानसभा में बहुमत साबित करने के निर्देश दिए हैं।
-कांग्रेस ने कर्नाटक मामले में एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट का रुख कर लिया है। प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव ने अदालत में याचिका दायर की है कि उनके पिछले आदेश से उनकी पार्टी के अधिकार का हनन हुआ है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में विधायकों को व्हिप से छूट दी थी।

– राज्यपाल वजुभाई वाला कर्नाटक राज्य के घटनाक्रम पर केन्द्र सरकार को रिपोर्ट भेजेंगे। क्योंकि राज्याल ने डेढ बजे तक बहुमत परीक्षण करने की डेड लाइन दी थी । वह डेड लाइन भी निकल गई लेकिन नहीं हो सका बहुमत परीक्षण। मीडिया में खबरे आ रही है कि भाजपा का प्रतिनिधि मंडल भी राज्यपाल से मिलेगा।

– इस बीच कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने कहा है कि विधानसभा में बहस सोमवार तक जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि अभी भी 20 लोगों का बोलना बाकी है, ऐसे स्थिति में बहस जारी रहेगी।

-मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सदन में कहा कि मेरे विधायकों को 40-50 करोड़ रुपए ऑफर किए जा रहे हैं।
-मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने विधानसभा में कहा है कि जब से कांग्रेस-जेडीएस की सरकार बनी है बीजेपी पहले दिन से इसे गिराने में लगी हुई है। बीजेपी आज बहस नहीं करना चाहती है, लेकिन बहस जरूरी है। आप ये सीट (सीएम की कुर्सी) ले सकते हैं., सरकार बनाने की कोई जल्दबाजी नहीं है, आप आज भी सरकार बना सकते हैं और सोमवार को भी। 2009 में भी जब नॉर्थ कर्नाटक में बाढ़ आई थी, तो येदियुरप्पा मुश्किल में फंस गए थे। तब हमने देखा था कि कई विधायक रिजॉर्ट में गए थे और येदियुरप्पा की सरकार संकट में थी। येदियुरप्पा ने तब बीजेपी के सामने हाथ जोड़े थे कि उन्हें सीएम पोस्ट से नहीं हटाया जाए, लेकिन मैं किसी के आगे हाथ नहीं जोड़ूंगा।

– मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सदन में कहा कि वह अब भी भगवान से यही सवाल पूछते हैं कि उन्हें ऐसी परिस्थितियों में मुख्यमंत्री क्यों बनाया गया।

-बेंगलुरु पुलिस मुंबई के अस्पताल में भर्ती कांग्रेस विधायक श्रीमंत पाटिल से मिलने पहुंच गई है। विधानसभा स्पीकर के कहने पर बेंगलुरु पुलिस मुंबई के अस्पताल पहुंची हैं। यहां पर कांग्रेस विधायक श्रीमंत पाटिल भर्ती हैं। लेकिन, मुंबई पुलिस ने बेंगलुरु पुलिस को विधायक से मिलने नहीं दिया।

-कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला द्वारा मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी को शुक्रवार दोपहर 1.30 बजे तक विधानसभा में विश्वास मत पेश करने के निर्देश से नाराज मुख्यमंत्री ने इस पर रोक लगाने के लिए सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर की है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

इससे पहले भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा के एलान के बाद सभी भाजपा विधायकों ने विधानसभा में गुरुवार की रात गुजारी। भाजपा विधायकों का सोना, डिनर और फिर शुक्रवार सुबह मॉर्निंग वॉक भी सदन में ही हुआ।

गुरुवार रात को भाजपा नेता विधानसभा में ही रुके और शुक्रवार सुबह सदन परिसर में ही मॉर्निंग वॉक पर निकल पड़े।आपको बताते जाए कि दोपहर 1.30 बजे तक सदन में फ्लोर टेस्ट होता है तो ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि कांग्रेस-बीजेपी दोनों ही दोबारा सुप्रीम कोर्ट का रुख कर सकते हैं ।

Share Facebook Twitter Google+
Previous article
ऋतिक रोशन ने सर्वश्रेष्ठ प्रशंसा का किया खुलासा
Next article
काबुल विश्वविद्यालय के बाहर आत्मघाती हमला, 9 लोगों की मौत, 33 घायल

AN Reporter
http://www.alivenews.co.in

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here